भैयाथान Ambikapur News: । जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना राशि में हुए घोटाले का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस घोटाले में कई किसानों के शिकायत की फेहरिस्त लंबी होती जा रही है। मामला सामने आने के बाद सहकारी बैंक में ओड़गी व भैयाथान विकासखंड के कई ग्राम के किसानांे ने अपने खाते का स्टेटमेंट लेने बैंक का चक्कर लगाने लगे हैं। जहां बैंक के बाहर किसानों की भीड़ सुबह से ही उमड़ रही है।

पासबुक नहीं किया जा रहा प्रिंट

किसानों की माने तो सहकारी बैंक में बीते कई वर्षो से पासबुक प्रिंट नहीं किया जाता है। यही कारण है कि किसानों के फसल बीमा राशि आने तथा फर्जी तरीके से निकालने के बाद भी उन्हें पता नही चला और उनके खाते से रुपए गायब हो गए। इसमें बैंक की संलिप्तता नजर आती है।

गांव-गांव पहुंच रहे जांच दल के अधिकारी

छह माह पूर्व किसानों द्वारा दिए गए आवेदन पर जांच दल के अधिकारी बीते शनिवार को ग्राम भवराही व नावापारा पहुंचकर वहां के किसानों का बयान लिया। सिर्फ पहले के आवेदनकर्ता किसानों का बयान लेने से कई किसान असंतुष्ट नजर आए क्योंकि फसल बीमा राशि डकारे जाने की शिकायत कलेक्टर से की थी लेकिन बयान लेने आए जांच दल अधिकारियों के पास उन किसानों का नाम सूची में शामिल नहीं था।

इधर जमा उधर निकासी

2018 के फसल बीमा की राशि किसानों के खाते में छह अगस्त 2019 को आई और उसी दिन वह राशि उनके खाते से आहरण कर ली गई। एक दिन में जमा उसी दिन निकासी संदेह को प्रमाणित करता है। इसकी जानकारी किसानों को तनिक भी नहीं हुई। यही कारण है कि इतना बड़ा घपला किसानों के साथ हो गया। बहरहाल जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा कि इस घोटाले में कौन कौन संलिप्त हैं।

क्या कहते हैं जनप्रतिनिधि

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि अधिकारियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज होनी चाहिए। केंद्र सरकार अगर यह पैसा किसानों तक भेज रहा है तो पूरा पैसा उन्हें मिलना चाहिए। बीमा कंपनी द्वारा खाते में राशि डालने के बाद अगर आहरण हो जाए तो यह दुर्भाग्यजनक स्थिति है। कांग्रेस सरकार आने के बाद लगातार यही स्थिति है।

भाजपा जिलाध्यक्ष बाबूलाल अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा राशि में किसानों के साथ अन्याय हुआ है जहां किसानों के खाते में एक ही दिन में राशि जमा होतर है और उसी दिन निकल जातर है जो प्रथम दृष्टया गड़बड़ी प्रतीत होती है। अभी तक जिला प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local