अंबिकापुर। Agriculture News: सरगुजा जिले के गुलमोहर और सहजन के वृक्षों में अचानक पोइसीनिया लूपर कीट का जबरदस्त प्रकोप नजर आने लगा है।कृषि वैज्ञानिकों की टीम ने ग्रामीण क्षेत्र में भ्रमण किया तो देखा कि गुलमोहर और सहजन की पत्तियों को यह कीट भारी नुकसान पहुंचा रहा है। पत्तियों के साथ सहजन वृक्ष के छाल को भी यह कीट कुतरने लगा है। शहर के उद्यानों में भी कीट का प्रकोप दिख रहा है और फूलों, पत्तियों को खाकर नष्ट भी कर रहा है। कृषि वैज्ञानिकों ने उद्यान विभाग को भी सचेत किया है।

जिनके घर आंगन और बाड़ी में गुलमोहर और सहजन के पौधे लगे हैं उसमें तत्काल रासायनिक दवाइयों का छिड़काव करने अलर्ट भी जारी किया है। रासायनिक दवाइयों के साथ रात में प्रकाश प्रपंच की व्यवस्था करने कहा है ताकि कीट एक ही जगह जमा हो जाएं और नष्ट किया जा सके। कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केंद्र अजिरमा के अधिष्ठाता डॉ वीके सिंह एवं कीट विज्ञान विभाग के डॉ पीके भगत, डॉ जीपी पैकरा, डॉ केएन पैकरा ने ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण के दौरान देखा कि गुलमोहर के पेड़ और सहजन के पेड़ों में पोइसीनिया लूपर कीट का जबरदस्त प्रकोप है।

यह कीट चार अवस्था नजर आ रहा है। अंडा, लार्वा, प्यूपा और प्रौढ़ परंतु अंडे से निकलने के बाद लार्वा काफी सक्रिय हो जाता है। काफी सक्रिय हो जाता है और भोजन की तलाश में रेंगते हुए पोषक पेड़ों जैसे गुलमोहर, सहजन एवं अन्य पेड़ों की पत्तियों फूलों को खाकर नष्ट कर देता है। वातावरण में नमी की स्थिति में लार्वा अवस्था में यह कीटी पत्तियों, फूलों को खाकर अपना आकार परिवर्तित करता है।कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को सलाह दी है कि अपने खेतों में लगे गुलमोहर और अन्य फूल पौधों की निगरानी करें।

इस कीट के लगते ही प्रकाश प्रपंच की व्यवस्था करने के साथ रासायनिक दवा क्लोरो पाईरिफास व क्लोरो साइपर नामक दवाई का छिड़काव करें। कृषि वैज्ञानिकों ने कहा है कि यदि शहर के उद्यानों पर भी नजर नहीं पड़ी तो उद्यानों को यह कीट तबाह कर देगा। छोटे-छोटे पौधों की कोमल पत्तियों को यह कीट चूस जाता है। आक्रमण तेज होने पर रासायनिक दवाओं से रोकथाम भी मुश्किल हो सकता है। इसलिए शुरुआती दिनों में ही इस कीट की रोकथाम के लिए उपाय करना जरूरी होगा।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020