लखनपुर(नईदुनिया न्यूज)। लखनपुर विकासखंड के दूरस्थ ग्राम पंचायत पटकुरा के आश्रित ग्राम ग्राम कुकुटांगा, घटोन तथा चीताघुटरी वर्षा के सीजन में अपने ही ग्राम पंचायत मुख्यालय से कट जाता है। इसकी मुख्य वजह पंचायत मुख्यालय पटकुरा जाने वाले मार्ग पर पड़ने वाला नाला है जिस पर पुलिया निर्माण की मांग सालों से की जा रही है लेकिन न तो जनप्रतिनिधि और न ही अधिकारी ही ध्यान दे रहे हैं। वर्षा का सीजन शुरू होते ही ग्रामीणों के साथ स्कूली बच्चों में भी चिंता बढ़ गई है कि वे राशन लेने, स्कूल में पढ़ाई करने कैसे जाएंगे क्योंकि नाले में बाढ़ आ जाने से पार हो पाना संभव ही नहीं हो पाता। यह इलाका हाथी प्रभावित भी है। समय-समय पर हाथियों का स्वच्छंद विचरण भी इस इलाके में होता है,इसके बावजूद बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए कोई प्रयास नहीं किए जाने से ग्रामीणों में घोर निराशा देखी जा रही है।

जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत पटकुरा के तीनों आश्रित ग्राम नाले के उस पार है। सूखे मौसम में तो आने जाने में किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होती है लेकिन वर्षा के मौसम में दिक्कत बढ़ जाती है। इसी नाले को पार कर ग्रामीणों को राशन लेने पंचायत मुख्यालय जाना पड़ता है। शासन की दूसरी योजनाओं का लाभ लेने के लिए भी पंचायत मुख्यालय जाना जरूरी है।स्कूली बच्चों को पढ़ाई के लिए भी ग्राम पंचायत मुख्यालय जाना पड़ता है लेकिन नाले में बाढ़ आ जाने के कारण बच्चे स्कूल नहीं जा पाते। ग्रामीणों को समय पर राशन भी नहीं मिल पाता। राम लाल यादव, ननका, जगदीश ने बताया कि वे लगातार जनप्रतिनिधियों से नाले पर पुलिया निर्माण की मांग कर रहे हैं ताकि उन्हें सुलभ बारहमासी आवागमन की सुविधा मिल सके लेकिन अभी तक कोई पहल नहीं हुई है। इस बरसात में भी उन्हें कम से कम तीन महीने तक पहुंचविहीनता का दंश झेलना पड़ेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close