अंबिकापुर। Ambikapur News: तिरुवनंतपुरम से श्रमिकों को लेकर आ रही 24 कोच वाली स्पेशल ट्रेन आज शाम अंबिकापुर स्टेशन पहुंचेगी। इस ट्रेन में करीब 900 श्रमिक सरगुजा संभाग एवं झारखंड इलाके के सवार हैं। इन सभी श्रमिकों को जांच के बाद उनके इलाके तक भेजा जाएगा। अंबिकापुर रेलवे स्टेशन में शाम 4.30 बजे तिरुवनंतपुरम से अंबिकापुर के बीच चली स्पेशल ट्रेन पहुंचेगी। स्टेशन में इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है।

स्टेशन परिसर को सैनिटाइज कर दिया गया है। मजदूरों के स्टेशन से बाहर निकलने के लिए दो जगह गेट बनाए गए हैं। इसके अलावा फिजिकल डिस्टेंसिंग के लिए मार्किंग भी जगह-जगह की गई है। इधर स्थानीय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग भी श्रमिकों के आने से पूर्व अपनी तैयारियों में जुटा हुआ है।

स्वास्थ्य विभाग स्टेशन परिसर में मजदूरों की स्वास्थ्य जांच के अलावा उसकी स्क्रीनिंग के लिए अपने कर्मचारियों को तैनात कर रहा है। प्रशासन और पुलिस के अधिकारी मजदूरों को सुरक्षित उनके ठिकाने तक पहुंचाने के लिए इंतजाम में जुटे हैं। श्रमिकों को जांच के बाद अलग-अलग वाहनों से उनके इलाकों तक छोड़ने की व्यवस्था भी की जा रही है। बताया जा रहा है कि इस ट्रेन में सरगुजा सहित बलरामपुर, जशपुर एवं झारखंड के श्रमिक शामिल हैं।

कर्मचारियों और पुलिस जवानों की तैनाती

तिरुअनंतपुरम से आज शाम अंबिकापुर पहुंच रही विशेष ट्रेन में सवार मजदूरों की जांच से लेकर उन्हें गंतव्य तक रवाना करने के लिए प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम किए हैं। श्रमिक स्पेशल ट्रेन के स्टेशन पहुंचते ही सभी 24 डिब्बों के सामने कर्मचारी और पुलिस के जवान तैनात कर दिए जाएंगे।

इसके लिए दर्जनों शिक्षक, पटवारी एवं पुलिस जवानों की ड्यूटी लगाई गई है ताकि मजदूरों के डिब्बे से उतरने में भगदड़ ना मचे। ट्रेन के स्टेशन में खड़ी होने के बाद उन्हें उतरने नही दिया जाएगा। डिब्बे से एक-एक श्रमिक को नाम, पता पूछकर उतारा जाएगा। इसके बाद उनके पूरे सामानों को सैनिटाइज करने के बाद जिस जिले के मजदूर होंगे उस जिले के हेल्थ सेंटर की ओर जांच के लिए भेज दिया जाएगा।

बनाए गए हेल्थ चेकअप काउंटर

जांच के बाद मजदूरों की जैसी स्थिति होगी उसके अनुसार उन्हें उनके बसों में बैठाकर संबंधित जिले के क्वॉरेंटाइन सेंटर में भेजा जाएगा। अंबिकापुर के एसडीएम और इंसिडेंट कमांडर अजय त्रिपाठी ने बताया कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन में तीन जिलों के मजदूर सवार है। इसमें सरगुजा जिले के 31, बलरामपुर जिले से 155 और जशपुर जिले से सबसे ज्यादा 629 श्रमिक ट्रेन में सवार है।

इन तीनों जिले के लिए रेलवे स्टेशन के बाहर अलग-अलग स्थानों पर हेल्थ चेकअप काउंटर और वाहन पार्किंग की व्यवस्था की गई है। मजदूरों की ट्रेन आज शाम साढ़े चार बजे जैसे ही स्टेशन में आकर रुकेगी, हर डिब्बे के सामने तीन तीन कर्मचारी और पुलिस जवान तैनात कर दिए जाएंगे। कोच में सवार सभी व्यक्तियों के नाम, पता और मोबाइल नंबर दर्ज किए जाएंगे इसके बाद उन्हें स्टेशन में उतारा जाएगा।

रैपिड टेस्ट किट से होगी जांच

श्रमिकाें के सामानों को सैनिटाइज करने के बाद संबंधित जिलों के अलग-अलग हेल्थ चेकअप काउंटर में स्वास्थ्य जांच के लिए भेजा जाएगा जहां थर्मल स्क्रीनिंग के बाद उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछा जाएगा। जरूरत पड़ने पर रैपिड टेस्ट किट से उनकी जांच की जाएगी। जांच के बाद यदि मजदूरों का स्वास्थ्य असामान्य लगा तो उन्हें अलग से वाहन में बैठाकर अस्पताल में जांच के लिए भेजा जाएगा। स्थिति सामान्य रहने पर जिलों के अलग-अलग बसों में सवार होकर उन्हें भेजा जाएगा।

बलरामपुर जशपुर और सरगुजा जिले के कर्मचारियों को भी उन हेल्थ सेंटरों में तैनात किया गया है। स्वास्थ्य जांच के बाद प्रशासन द्वारा सभी श्रमिकों के लिए भोजन एवं नाश्ते का इंतजाम किया गया है। यह सभी उन्हें बस में सवार होते वक्त पैकेट में दिए जाएंगे।

एसडीएम त्रिपाठी ने बताया कि स्टेशन में ट्रेन से उतरने और बसों में सवार होने तक मजदूरों में किसी तरह की आपाधापी ना हो इसके लिए सभी तरह के इंतजाम किए गए हैं। मजदूरों को भेजने के लिए 20 बसें और छोटे वाहनों का इंतजाम किया गया है। जांच के बाद इन वाहनों में मजदूरों को बैठाकर संबंधित जिलों के क्वॉरेंटाइन सेंटर में भेजा जाएगा।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना