अंबिकापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Ambikapur News वैलेंटाइन-डे के विरो के नाम पर संजय पार्क में घूमने पहुंचे लड़के-लड़कियों के बीच दहशत का माहौल निर्मित कर युवती को दौड़ाने के मामले में चार पुलिस अकिारियों-कर्मचारियों के निलंबन के बाद कोतवाली थाने में चार नामजद आरोपितों सहित अन्य के विरुद्ध बलवा सहित अन्य संगीन धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया है। मामले में तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर पुलिस थाने ले आई है। घटना दिवस लड़कियों को दौड़ाने और गलत नीयत से हाथों से छूकर महिला आरक्षक को पीछे धकेलने की पुष्टि संजय पार्क में डयूटीरत एएसआई रामचंद्र सिंह ने दर्ज कराए गए प्राथमिकी में की है।

कोतवाली थाने में दर्ज रिपोर्ट में एएसआई ने बताया है कि 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे के दिन दोपहर 12 से 12.30 के बीच संजय पार्क में प्रधान आरक्षक मनीष तिवारी, आरक्षक रिपी साहू के अलावा एक महिला आरक्षक के साथ वे सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर लगाई गई डयूटी पर पार्क के मुख्य प्रवेश द्वार पर तैनात थे।

दोपहर लगभग 12 बजे 15-20 लोग शोर मचाते हाथ में लाठी-डंडा लिए पार्क के मुख्य प्रवेश द्वार के अंदर घुसने का प्रयास करने लगे। इनके द्वारा महिला आरक्षक के साथ गलत नीयत से धक्का-मुक्की की गई। मना करने के बाद भी वे नहीं माने। पुलिस ने नामजद चार आरोपितों में योगेश दुबे, मयंक सोनी, अमनदीप को गिरफ्तार कर लिया है, अन्य की तलाश जारी है।

इनका कहना है

किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। सार्वजनिक जगह पर दहशत फैलाना, गुण्डागर्दी करने पर किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। पूरे मामले की जांच कराई गई। सच्चाई सामने आने पर न सिर्फ आरोपितों पर बल्कि लापरवाही पर पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई की गई है।

रतनलाल डांगी आईजी, सरगुजा रेंज

Posted By: Hemant Upadhyay