अंबिकापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मेडिकल कॉलेज अस्पताल के प्रसूती एवं स्त्री रोग विभाग में एक महिला के बच्चेदानी से बड़ा गोला चिकित्सकों की टीम ने ऑपरेशन करके लगभग तीन किलो का गोला निकाला। महिला की स्थिति गंभीर देख परिजन उसे मेडिकल कॉलेज अस्पताल लेकर पहुंचे थे। महिला के शरीर में खून काफी कम था, इसे देखते हुए पहले उसे खून चढ़ाया गया। हीमोग्लोबिन बढ़ने पर चिकित्सकों की टीम ने तीन घंटे ऑपरेशन करके गोला निकाला।

नमनाकला निवासी लीलावती 33 वर्ष पेट में होती असहनीय पीड़ा के बाद अस्पताल पहुंची थी। चिकित्सकों ने उसका उपचार किया और पेट में गोला सामने आने पर ऑपरेशन करने के बाद ही राहत मिलने की जानकारी परिवार के सदस्यों को दी थी। परिजनों ने ऑपरेशन के लिए हामी भरी और विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ.जेपी साहू, डॉ.स्वप्निल विल्सन, निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ.पार्थ सारथी प्रसाद एवं सर्जन डॉ.अभिजीत दीवान की टीम के द्वारा महिला का सफल ऑपरेशन करके गोला को निकाला गया। चिकित्सकों ने बताया कि महिला के शरीर में खून काफी कम मात्रा में होने के कारण पहले हीमोग्लोबिन बढ़ाया गया। बच्चादानी को सुरक्षित रख महिला की सर्जरी की गई, जिससे भविष्य में वह गर्भवती हो सकती है। महिला की एक बच्ची है। ऑपरेशन के बाद महिला भी काफी राहत महसूस कर रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना