अंबिकापुर(नईदुनिया प्रतिनिधि) संत गहिरा गुरु विश्वविद्यालय सरगुजा अंबिकापुर से सम्बद्ध विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग सहित सभी शासकीय और अशासकीय महाविद्यालयों में शुक्रवार से नया शिक्षा सत्र आरंभ हो गया। सीबीएसई 12वीं बोर्ड के नतीजे घोषित नहीं होने के कारण स्नातक प्रथम वर्ष की प्रवेश की प्रक्रिया पूरी नहीं की जा सकी है सीबीएसई 12वीं बोर्ड के नतीजे के चक्कर में छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल से 12वीं बोर्ड की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले हजारों विद्यार्थियों को भी पढ़ाई के लिए कम से कम डेढ़ से दो माह का इंतजार करना पड़ रहा है। बता दें कि राज्य शासन के उच्च शिक्षा विभाग द्वारा स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश प्रक्रिया तब तक पूरी नहीं करने का आदेश दिया गया है जब तक कि सीबीएसई 12वीं बोर्ड के नतीजे घोषित नहीं हो जाते। राज्य शासन के उच्च शिक्षा विभाग के निर्देश के परिपालन में संत गहिरा गुरु विश्वविद्यालय प्रबंधन द्वारा भी सभी शासकीय और अशासकीय कालेजों के लिए यह नियम बना दिया गया है। विश्वविद्यालय द्वारा वर्तमान में स्नातक प्रथम वर्ष की कक्षाओं में प्रवेश के लिए आनलाइन फार्म जमा कराया जा रहा है। जब तक सीबीएसई 12वीं बोर्ड के नतीजे घोषित नहीं हो जाएंगे तब तक प्रवेश के लिए विश्वविद्यालय प्रबंधन मेरिट सूची का भी प्रकाशन नहीं करेगा। नतीजे घोषित होने में कम से कम एक माह का समय है। नतीजे घोषित होने के बाद भी आनलाइन फॉर्म जमा करने विद्यार्थियों को अवसर दिया जाएगा ऐसी स्थिति में पूरी संभावना है कि छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल से 12वीं की बोर्ड परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले विद्यार्थियों को कालेज की पढ़ाई के लिए कम से कम डेढ़ से दो महीने का इंतजार करना पड़ेगा। सीजी बोर्ड की 12वीं परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले विद्यार्थियों के समक्ष भी असमंजस की स्थिति निर्मित हो गई है। अधिकांश विद्यार्थियों ने स्नातक प्रथम वर्ष की कक्षाओं में प्रवेश के लिए आनलाइन आवेदन भी जमा कर दिया है लेकिन कालेज प्रबंधन द्वारा राज्य शासन के आदेश का हवाला देकर मेरिट सूची जारी नहीं की जा रही है। प्रवेश के लिए ऑनलाइन फॉर्म जमा करने कि पहले चरण की तिथि 30 जून तक की निर्धारित थी।एक जुलाई को मेरिट सूची जारी करना था लेकिन सीबीएसई 12वीं बोर्ड के नतीजे के चक्कर में सीजी बोर्ड के विद्यार्थियों की मेरिट सूची भी जारी नहीं की गई।इधर संत गहिरा गुरु विश्वविद्यालय सरगुजा अंबिकापुर का शैक्षणिक सत्र 2022-23 का शुभारम्भ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अशोक सिंह ने किया । कुलपति ने शुक्रवार को विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग का दौरा किया और सभी अध्यापकों से चर्चा की । अध्यापकों की समस्याओं से भी अवगत हुए तथा इसके शीघ्र निराकरण का आश्वासन दिया । उन्होंने सभी विषय के अध्यापकों के साथ चर्चा करते हुए शिक्षण कार्य का मार्गदर्शन किया।

अकादमिक कैलेंडर का सख्ती से हो पालन

कुलपति प्रो अशोक सिंह ने छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जारी अकादमिक कैलेंडर-2022-23 के अनुपालन हेतु निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि प्रवेश एवं शिक्षण आदि समस्त कार्य शासन के नियमानुसार सभी गतिविधियों को सुचारु रूप से संचालित किया जाए । उन्होंने नवीन शिक्षा सत्र-2022-23 की गतिविधियों को शिक्षकों द्वारा कड़ाई से कार्य करने का आग्रह भी किया।कुलपति ने सेमेस्टर की संचालित होने वाली सीबीसीएस की परीक्षाओं को निर्बाध रूप से समय-सीमा के अंतर्गत कराने एवं परीक्षा-परिणाम निर्धारित समयावधि में निकालने का सख्त निर्देश दिया, जिससे शिक्षण कार्य प्रभावित न हो सके।

एक जुलाई को मिल गया वेतन

कुलपति प्रो अशोक सिंह ने विश्वविद्यालय में वेतन प्राप्ति में विलम्ब की बनी हुई समस्या को निर्मूल करते हुए पूर्व की भांति विश्वविद्यालय के 133 समस्त नियमित(अध्यापक-अधिकारियों), दैनिक वेतन भोगी और मानदेय कर्मचारियों को एक जुलाई को ही वेतन भुगतान करा दिया। कुलपति ने कुलसचिव विनोद कुमार एक्का को भी निर्देश दिया कि कोई भी शैक्षणिक व प्रशासनिक कार्य विलंबित न हो । समय से सभी कार्य नियमानुसार शीघ्र संपादित कर दिया जाए । उन्होंने विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग में अध्यापनरत सभी शिक्षकों का सातवें वेतनमान की बकाया राशि, पीएचडी व वेतन वृद्धि की राशि के साथ-साथ समस्त अध्यापकों की लंबित चरित्रावली को शीघ्रातिशीघ्र पूर्ण किए जाने का भी निर्देश दिया ।

शिक्षण विभाग के प्रतिनिधिमण्डल ने की मुलाकात

शिक्षा सत्र के प्रथम दिवस के अवसर पर विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग के प्राध्यापकों के प्रतिनिधिमंडल ने नए सत्र में कुलपति प्रोअशोक सिंह व कुलसचिव विनोद एक्का से मुलाकात की। नवीन सत्र में विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग के अध्यापकों की सातवां वेतनमान की बकाया राशि, पीएचडी वेतन वृद्धि, प्रोन्नाति वेतन वृद्धि की बकाया राशि प्रदान किये जाने का अनुरोध किया ।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close