अम्बिकापुर। Chhattisgarh News सरगुजा जिले के बतौली विकासखंड के ग्राम पंचायत बेलकोटा में सरपंच की हार-जीत का फैसला महज 4 मतों से हुआ है। 4 मत से सरपंच का चुनाव हारने वाली महिला प्रत्याशी संपत्ति केरकेट्टा के पक्ष में दर्जनों ग्रामीण आ गए हैं। गुरुवार को सरपंच पद की महिला प्रत्याशी संपत्ति केरकेट्टा के साथ ग्रामीणों ने जिला निर्वाचन अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर चुनाव में मनमानी किए जाने का आरोप लगाया है। सरपंच पद के प्रत्याशी का आरोप है कि जो महिला सरपंच का चुनाव जीती है वह पहुंच और प्रभावशाली है।

आर्थिक रूप से सशक्त होने का भी फायदा उन्हें चुनाव में मिला है। राजनीतिक दलों के हस्तक्षेप का लाभ उठाते हुए विधि विरुद्ध तरीके से मतों की गिनती की गई। कुछ मत पत्र फाड़ कर इधर-उधर फेंक दिए गए। सरपंच प्रत्याशी का दावा है कि उनके द्वारा ऐसा विधि विरुद्ध गणना करने से रोका गया तो उसे तथा परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकी दी गई ।

उन्होंने दावा किया है कि गांव वाले इस बार उम्मीद में थे कि अच्छा प्रत्याशी चुनाव जीत कर आएगा, लेकिन पीठासीन अधिकारी एवं चुनाव ड्यूटी में आए कर्मचारियों द्वारा राजनीतिक दलों के दबाव में आकर गलत ढंग से मतगणना कर परिणाम की घोषणा कर दी गई। मतगणना समाप्त होने के तत्काल बाद सरपंच पद की प्रत्याशी द्वारा पीठासीन अधिकारी के पास पुनर गणना के लिए आवेदन दिया गया था लेकिन उन्होंने यह कहते हुए पुनः गणना करने से साफ इंकार कर दिया कि तुम्हें जहां जाना है चले जाओ हम पुनःगणना नहीं करेंगे ।

आरोप है कि मतदान के अगले दिन ही एसडीएम सीतापुर और अंबिकापुर में जिम्मेदार अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर दोबारा गणना का आग्रह किया गया था लेकिन आवेदन पर अभी तक कोई सुनवाई नहीं की गई है ।सरपंच चुनाव के परिणाम से वे संतुष्ट नही हैं उन्हें पूरा विश्वास है कि यदि दोबारा मतों की गिनती हुई तो संपत्ति केरकेट्टा ही चुनाव जीतेगी ।प्रत्याशी के साथ आये समर्थकों ने नए सिरे से मतों की गिनती कराए जाने की मांग की है।

Posted By: Hemant Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close