अंबिकापुर।(नईदुनिया प्रतिनिधि)। स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छता में किए गए उत्कृष्ट कार्यों और नवाचार के कारण ही अंबिकापुर शहर की पहचान राष्ट्रीय स्तर पर बनी है। इस बार भी स्वच्छता का राष्ट्रीय पुरस्कार नगर निगम अंबिकापुर को मिलने जा रहा है। किस कैटेगरी में, कौन सा पुरस्कार दिया जाएगा इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई है पर अंबिकापुर को स्वच्छता के लिए मिलने वाले राष्ट्रीय सम्मान से शहर के लिए स्वच्छता यात्रा की एक और बड़ी कड़ी जुड़ने वाली है।

गौरतलब है कि वर्ष 2015 में तत्कालीन कलेक्टर ऋतु सैन ने स्वच्छता की नींव डाली थी। तब से लगातार अंबिकापुर शहर स्वच्छता को लेकर नए-नए नवाचार करने लगा और इसकी ख्याति बढ़ती गई। अंबिकापुर का माडल कचरा प्रबंधन को प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में लागू किया गया।यही नहीं देश के कई बड़े महानगरों में भी यह माडल पहुंचा। अंबिकापुर शहर में स्वच्छता दीक्षा के तहत यहां स्वच्छता की पढ़ाई होती है।दूसरे राज्यों के नगरीय निकायों से आने वाले प्रशासनिक अधिकारी,नगरीय निकायों के जनप्रतिनिधि यहां कचरा प्रबंधन को पढ़ने आते हैं।यहां इसका पाठ्यक्रम भी यहां तैयार है।

देश के कई बड़े महानगरों के साथ पड़ोसी देश नेपाल के प्रतिनिधि यहां के कचरा प्रबंधन का अध्ययन करने आ चुके हैं। स्वच्छता में राष्ट्रीय ख्याति अर्जित कर चुके अंबिकापुर का नाम एक अक्टूबर को फिर स्वच्छता में बेहतर कार्य के लिए, स्वच्छता में नवाचार के लिए जुड़ने जा रहा है।इस बार अंबिकापुर में सीवरेज ट्रीटमेंट को लेकर अच्छा काम किया है। शहर के आधा दर्जन नई कालोनियों में शत-प्रतिशत सीवरेज की व्यवस्था है। शहर के कई तालाबों में गंदे पानी को प्राकृतिक तरीके से ट्रीटमेंट करने का बड़ा काम शुरू किया है, जिसकी राष्ट्रीय स्तर पर सराहना हुई है। इस बार पुनः महापौर डाक्टर अजय तिर्की व तत्कालीन नगर निगम आयुक्त व वर्तमान बलरामपुर कलेक्टर विजय दयाराम के देश की राजधानी दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सम्मान प्राप्त करने जा रहे हैं। शुक्रवार को महापौर और आयुक्त यहां से रवाना होंगे।दोनों राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू केंद्रीय शहरी विकास मंत्री के हाथों सम्मान प्राप्त करेंगे।

अंबिकापुर के नागरिकों के लिए गौरव का क्षण-डा अजय तिर्की

महापौर डा अजय तिर्की ने कहा कि शहर के नागरिकों की बदौलत ही हमने स्वच्छता में राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त की है।हर बार अंबिकापुर को किसी ने किसी सम्मान के लिए चुना जाता है। यह हम सब अंबिकापुर वासियों के लिए गौरव का विषय है। अंबिकापुर के नागरिक यदि हमारा साथ नहीं देते तो इतनी बड़ी सफलता नहीं मिलती। मैं यह सम्मान अंबिकापुर के नागरिकों को समर्पित करता हूं।

मेरा पूरा ध्यान स्वच्छता पर था- विजय दयाराम के

नगर निगम के आयुक्त रहे वर्तमान बलरामपुर कलेक्टर विजय दयाराम के ने कहा कि मैं अल्प समय के लिए अंबिकापुर नगर निगम में पदस्थ रहा। इस दौरान मेरा पूरा ध्यान शहर की स्वच्छता को लेकर था। मुझे याद है मैं सुबह पांच बजे ही शहर की सफाई व्यवस्था को जानने निकल जाता था। नगर निगम के सभी जनप्रतिनिधि व अधिकारी,कर्मचारी भी काफी जागरूकता के साथ इस अभियान में साथ देते थे। मेरे लिए यह गौरव का क्षण है कि अंबिकापुर में आयुक्त रहते मैंने जो कार्य किया उसी दौरान स्वच्छता का सर्वेक्षण हुआ और सम्मान भी मिलने जा रहा है। इसके अलावा अब मैं बलरामपुर जिले में पदस्थ हूं और बलरामपुर नगरपालिका को भी स्वच्छता के लिए पुरस्कार मिलेगा। मेरे लिए दोहरी खुशी है।

अंबिकापुर को अबतक मिला स्वच्छता सम्मान-

0 अंबिकापुर नगर निगम स्वच्छ सर्वेक्षण 2017 में दो लाख की जनसंख्या में देश में प्रथम एवं पूरे देश में 15 वां स्थान।

0स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 में दो लाख की जनसंख्या में देश में प्रथम, बेस्ट प्रैक्टिस इनोवेशन में देश में अव्वल एवं पूरे देश में 11वां स्थान।

0स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में दो लाख की जनसंख्या में देश में प्रथम एवं पूरे देश में दूसरा स्थान व फाइव स्टार रेटिंग से पुरस्कृत।

0स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में एक लाख से 10 लाख को जनसंख्या के शहरों में अंबिकापुर अव्वल।

0स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में एक से तीन लाख जनसंख्या वाले निगम में प्रथम व देश पांचवा स्थान।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close