राजपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कि समझा इसका असर बलरामपुर जिले के अधिकारी कर्मचारियों पर नहीं पड़ा है मुख्यमंत्री का भेंट मुलाकात कार्यक्रम संपन्न होते ही यहां फिर से शासकीय कार्यालयों में मनमानी अव्यवस्था और भ्रष्टाचार आरंभ हो चुका है ताजा मामला संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज के जन चौपाल से सामने आया है। जहां एक ग्रामीण ने शिकायत दर्ज कराई कि तहसील कार्यालय से राजस्व दस्तावेजों के लिए उससे दस हजार की मांग की जा रही है। इतना ही नहीं पेंशन, राशन कार्ड जैसी समस्याओं की भी ग्रामीणों ने झड़ी लगा दी।

सामरी विधायक एवं संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज ने राजपुर के ओकरा में 15 लाख की लागत से होने वाले निर्माण कार्यों का भूमिपूजन कर जनचौपाल लगाई तो शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही की पोल खोल कर ग्रामीणों ने रख दी। ग्राम बगाड़ी के सहदेव द्वारा तहसील कार्यालय में उगाही की शिकायत पर जांच के निर्देश दिए गए।तहसील कार्यालय में भ्रष्टाचार और खुलेआम रिश्वत की मांग किए जाने की कई शिकायतें संसदीय सचिव के जन चौपाल में सामने आई। चंद्रगढ़ के रंजीत तिग्गा सहित अन्य ने राशन कार्ड न होने की शिकायत की तो तत्कालीन सचिव ने स्पष्ट जानकारी नहीं दी।संसदीय सचिव ने तत्काल राशन कार्ड जारी करने निर्देश दिया।

नवकी के दसमेत ने एक वर्ष का पेंशन नहीं मिलने की शिकायत की। ओकरा की लखपतिया ने कहा कि पात्र होने के बावजूद पेंशन नहीं मिल रहा है।संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज से ओकरा और पतरापरा पंचायत के ग्रामीणों ने नहर से सिंचाई के लिए पानी नहीं मिलने से उतपन्न परेशानियों से अवगत कराया।जल संसाधन विभाग के एसडीओ शेषमणि तिवारी ने बताया कि 35 लोगों का मुआवजा राशि नहीं मिल पाया है प्रकरण बनकर तैयार है राशि उपलब्ध होने पर तत्काल दिया जाएगा। ओकरा और पतरापारा पंचायत के ग्रामीणों ने कहा कि लाइनिंग में जमीन अधिक लिया गया है और मुआवजा कम रकबा का बनाया गया है जिसके कारण राशि भी कम दिया जा रहा है।

संसदीय सचिव से ग्राम वासियों ने कहा की सभी ग्रामवासी असंतुष्ट है उन्होंने जल संसाधन विभाग के एसडीओ को बोला पटवारी के साथ जाएं और सभी का सीमांकन करवा सभी को संतुष्ट कीजिये।ओकरा में अवैध कटाई की भी शिकायत सामने आई।वन विभाग में कैंपा मद से हुए कार्यों में मजदूरी भुगतान नहीं देने का आरोप ग्रामीणों ने लगाया।मुनवा गांव में वनभूमि पट्टा जारी करने से पहले सभी आवेदनों की छानबीन करने निर्देशित किया गया। राजपुर ब्लॉक में बिगड़े पड़े 13 हैंडपंपों का सुधार एक दिन के भीतर पूरा करने का निर्देश दिया गया। जन चौपाल में एसडीओ अशोक तिवारी, सीईओ विनोद जायसवाल, तहसीलदार सुरेश राय, रेंजर महाजन साहू, खाद्य निरीक्षक सरोज उरेती, एसडीओ धर्मेंद्र गुप्ता, कांग्रेस के प्रदेश प्रतिनिधि संतोष सिंह, राजीव गुप्ता, मनोज अग्रवाल, स्वतंत्र राजा मिश्रा,जनपद सदस्य आनंद मसीह, देवशरण राम, उपस्थित थे।

दस हजार दो अपना कागज ले जाओ

ग्राम बगाडी सहदेव कुमार ने बताया कि उसके पिताजी के नाम का बी वन सुधार कार्य के लिए राजपुर तहसील कार्यालय में आवेदन किया गया था। नाम सुधार करने के लिए सारे दस्तावेज जमा कर दिए गए थे। इस प्रकरण में सभी विधिक कार्रवाई कर ली गई थी। तहसील कार्यालय में पदस्थ कर्मचारी ने एक कागज में अपना नंबर देकर बोला कि इस नंबर पर बात कर लेना बी वन मिल जाएगा। उस नंबर मोबाइल से जब सहदेव ने बात की तो बोला गया कि तहसीलदार का हस्ताक्षर शेष है बाकी काम हो गया है। 10 हजार ले आओ और कागज ले जाओ। तहसीलदार सुरेश राय ने कहा कि शिकायत वह पूरी तरीके से निराधार है। उनका बी वन सुधार कार्य 31 मार्च 2022 को ही कर दिया गया है। शिकायतकर्ता जो पैसे देने की बात कह रहा हैं वह जांच का विषय है। जांच करने के बाद पता चल पाएगा कि हमारे यहां पदस्थ कर्मचारी के द्वारा किसके कहने पर पैसे की मांग की गई।जांच के दौरान जो भी दोषी पाया जाएगा उन पर विधिपूर्वक कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close