बिश्रामपुर।समीपस्थ ग्राम पंचायत रामनगर के आदिम जाति सेवा सहकारी समिति में संचालित धान खरीदी केंद्र में व्यापक अनियमितताएं बढ़ते जाने को लेकर नई दुनिया में प्रकाशित खबर पर कलेक्टर के निर्देश पर राजस्व टीम के साथ पहुंचे सूरजपुर तहसीलदार संजय राठौर को धान खरीदी केंद्र की जांच में व्यापक गड़बड़ी मिली। जांच में नई दुनिया में प्रकाशित खबर सच निकली।बता दें कि दो दिसंबर शुक्रवार के अंक में नईदुनिया ने किसानों को बोरा सिलाई के साथ ही लगानी पड़ रही छल्ली शीर्षक से समाचार का प्रकाशन किया था। खबर के माध्यम से खरीदी केंद्र में बढ़ती जा रही गड़बड़ी को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था।

नई दुनिया में प्रकाशित उक्त खबर पर गंभीर कलेक्टर इफ्फत आरा व एसडीएम रवि सिंह के निर्देश पर शुक्रवार को सूरजपुर तहसीलदार संजय राठौर ने नायब तहसीलदार हिना टंडन एवं राजस्व अमले के साथ धान खरीदी केंद्र रामनगर पहुंचकर खबर की जांच की। जांच में उन्हें व्यापक गड़बड़ी मिली। उन्होंने पाया कि समिति प्रबंधन द्वारा मजदूरों को नहीं रखा गया है और धान बेचने आए किसान स्वयं ही धान पलटी कर बोरे की सिलाई से लेकर वजन करने और छल्ली लगाने का काम करते हैं। जबकि शासन के निर्देशानुसार ये कार्य समिति प्रबंधक द्वारा समिति के मजदूरों से कराया जाना है। जिसके एवज में समिति प्रबंधन को शासन द्वारा निर्धारित राशि उपलब्ध कराई जाती है। इसके साथ ही जांच में पाया गया कि समिति प्रबंधन द्वारा नमी युक्त धान की खरीदी की जा रही है और प्रत्येक बोले में निर्धारित मात्रा से अधिक धान लेकर किसानों को आर्थिक क्षति पहुंचाई जा रही है।

वर्जन

जांच में अनेक अनियमितताएं मिली हैं। समिति प्रबंधन द्वारा शासन के निर्देशों का उल्लंघन करते हुए धान बेचने आए किसानों से बोरा पलटी करने से लेकर बोरा की सिलाई, वजन और छल्ली लगाने का कार्य कराया जा रहा है। नमी युक्त धान खरीदी करना और निर्धारित वजन से अधिक धान खरीदी करना पाया गया। अग्रिम कार्यवाही के लिए जांच प्रतिवेदन कलेक्टर सूरजपुर के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।

संजय राठौर

तहसीलदार सूरजपुर

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close