जशपुरनगर (नईदुनिया न्यूज) । जैव विविधता दिवस के अवसर पर आज जिला प्रशासन एवं वन विभाग के सँयुक्त तत्वावधान में मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया। जिला मुख्यालय स्थित कलेक्टोरेट कार्यालय के सामने से सुबह 7 बजे संसदीय सचिव छत्तीसगढ़ शासन एवं विधायक कुनकुरी यूडी मिंज, एवं विधायक जशपुर विनय भगत द्वारा हरी झंडी दिखाकर धावकों को रवाना किया गया। साथ ही धावकों के उत्साहवर्धन एवं पर्यावरण के प्रति जागरूकता संदेश देने स्कूली बच्चों एवं जनप्रतिनिधियों सहित दौड़ लगाई। इस मौके पर कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक श्री राजेश अग्रवाल, डीएफओ जितेंद्र उपाध्याय सहित विभिन्ना विभागों के अधिकारी कर्मचारी, जनप्रतिनिधि, समाजसेवी गणमान्य नागरिक एवं स्कूली बच्चे उपस्थित रहे।इस दौरान संसदीय सचिव यूडी मिंज ने कार्यक्रम के लिए जिला प्रशासन सहित वन विभाग की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि पर्यावरण सरंक्षण के लिए ऐसे कार्यक्रम समय समय पर होना आवश्यक है। उन्होंने उपस्थित सभी लोगों को जैव विविधता दिवस की हार्दिक बधाई एवं बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि जैव विविधता सतत विकास से जुड़ी कई चुनौतियों का जवाब प्रस्तुत करती है और हमें जैव विविधता को विलुप्त होने से बचाने और संरक्षित करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करना चाहिए। प्राकृतिक स्त्रोतों के लगातार हो रहे दोहन से इसमें कमी आ रही है। जिससे पर्यावरण संतुलन प्रभावित हो रहा है। जिसका दुष्परिणाम हमें अनेक प्राकृतिक आपदा के रूप में देखने को मिल रहा है। जैव विविधता को संरक्षित रखने के लिए हमें प्राकृतिक संसाधन पेड़ पौधे और जीव जंतुओं के साथ-साथ पशु पक्षियों की अस्तित्व बनाए रखने के लिए सामूहिक रूप से प्रयास करना होगा।

श्री मिंज ने कहा कि जशपुर जिला जैव विविधता से परिपूर्ण है। यहाँ चारों तरफ हरियाली, घने जंगल, झरने, नदी, पहाड़ देखने को मिलते है। हमें इसकी मनमोहक प्राकृतिक सौंदर्य को बनाए रखना है। इसके लिए आने वाली युवा पीढ़ी को संकलिप्त होना होगा। उन्होंने उपस्थित सभी लोगों को पर्यावरण की रक्षा के लिए आगे बढ़कर हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित किया।

विधायक श्री भगत ने कहा कि हम सभी प्रकृति के प्राणी हैं, जैव विविधता पर ही हमारा जीवन संभव है। स्वस्थ और जीवंत पारिस्थितिक तंत्र से ही मानव को रोटी, कपड़ा, भोजन, पानी, हवा और दवा के साथ-साथ आश्रय और ऊर्जा भी मिलती है। उन्होंने कहा कि जैव विविधता को संरक्षित रखने के लिए हमें प्रकृति के प्रति संवेदनशील होना अनिवार्य है। इसलिए हमें मिट्टी, पानी, हवा, नदियां, जंगल की संरक्षण करने की जरूरत है। हम सबको मिलकर इसे बचाने का प्रयास करना होगा। साथ ही इसे संतुलित बनाए रखने के लिए पौधरोपण एवं उसका संरक्षण करना होगा। श्री भगत ने कहा कि बच्चे कच्ची मिट्टी की तरह होते है जिन्हें जैसी चाहे आकृति में ढाल सकते है। इसलिए अभी से बच्चों में जैव विविधता की महत्ता के प्रति समझ पैदा करना आवश्यक है। जिससे ये युवा आगे चलकर जिले की खूबसूरती को वर्तमान परिदृश्य की तरह संरक्षित रखने के लिए अपनी जिम्मेदारी निभा सके।

कलेक्टर श्री अग्रवाल ने हमारे अस्तित्व के लिए जैव विविधता बहुत आवश्यक है। इसके संरक्षण एवं संवर्धन से मानव जीवन खुशहाल रहेगा। कलेक्टर ने सभी स्कूली बच्चों को जैव विविधता के प्रति जागरूक होने के लिए प्रेरित करते हुए उन्हें सरंक्षित रखने के लिए समझाईश दी। साथ ही अनेक उदाहरणों से जैव विविधता के घटने से होने वाले नुकसान के बारे में सभी को जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आप सभी आने वाले भविष्य के निर्माता हो, वन एवं जीव जंतुओं को बचाना आप सभी के हाथों पर निर्भर रहेगा। इसलिए आप सभी जैव विविधता के बचाव के कार्य को अपने दिनचर्या में शामिल करें। साथ ही पर्यावरण को नुकसान पहुचांने वाले प्रदूषक तत्वों का उपयोग में कमी लाए। उन्होंने कहा कि बच्चों में कार्यक्रम से मिले जानकारी का आगे भविष्य में निश्चित रूप से लाभ मिलेगा। कलेक्टर ने कहा कि जैव विविधता के घटने से पारिस्थितिकी तंत्र को नुकसान पहुँचता है। इसलिए अब सभी लोगों का पर्यावरण सरंक्षण के प्रति अधिक जागरूक होना आवश्यक है। सभी को मिलकर इस क्षेत्र में प्रयास करना होगा। पर्यावरण को नुकसान पहुँचाने से बचाने के लिए अपने आस पास पेड़ो की अनावश्यक कटाई को रोकना, प्लास्टिक थैलियों के उपयोग कम करना, अधिक से अधिक पेड़ लगाकर उसकी रक्षा करने सहित अन्य कार्यो में सभी को भाग लेना होगा। जिससे जैव विविधता कायम रहें। डीएफओ उपाध्याय ने कहा कि इस कार्यक्रम के आयोजन का उद्देश्य पर्यावरण के प्रति जागरूकता एवं दीर्घ कालीन जैव विविधता को पृथ्वी पर बनाये रखने हेतु सभी लोगों में पारिस्थितिक स्थिरता के महत्व के बारे में जागरूक करना है। जिससे सभी वर्ग के लोग जैव विविधता के बचाव के लिए अपना योगदान दे सके। उन्होंने बताया कि इस अवसर पर जिले के समृद्ध जैव विविधता के सभी आयामों जैसे कि वनस्पतियां प्राकृतिक सौंदर्य, वन, वन्यप्राणी, जनजातीय सामाजिक विविधता, कृषि विविधता, सांस्कृतिक विविधता आदि विषयों को प्रदर्शित करने वाले फोटो प्रदर्शनी सहित अन्य कार्यक्रमों का आयोजन भी वन मंडल जशपुर में किया गया है। साथ ही का भी आयोजन किया गया है। उन्होंने सभी नगरवासियों को जैव विविधता की दिवस की शुभकामनाएं देते हुए को इन कार्यक्रमों में हिस्सा लेने का आग्रह किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close