अंबिकापुर। Coronavirus: कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव और नियंत्रण के लिए लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए सरगुजा, सूरजपुर, बलरामपुर जिले में पुलिस व प्रशासन सक्रिय हो गया है। तीनों जिले में लॉकडाउन पूरी तरह से सफल हो चुका है। अनावश्यक घरों से बाहर निकलने वाले लोगों के खिलाफ सख्ती बरती जा रही है। इस बीच दुकानें बंद होने की वजह से लोगों को जरूरी वस्तुओं के लिए दिक्कतें भी आ रही हैं। इस स्थिति को देखते हुए अम्बिकापुर नगर निगम प्रशासन ने एक सराहनीय पहल की है। प्रशासन की ओर से एक व्हाट्सअप नंबर जारी किया गया है। जिन्हें आवश्यक वस्तुओं की जरूरत है, वे सामान की सूची इस नंबर पर भेज सकते हैं। उन्हें बाजार दर पर बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के जरूरी सामानों की घर पहुंच सेवा मुहैया कराई जा रही है।

सरगुजा जिले में कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर की पहल पर लॉकडाउन के दौरान जनता को राशन और दवा की घर पहुंच सेवा उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। यह सुविधा प्रतिदिन सुबह आठ बजे से दोपहर एक बजे तक जनता को मिल सकेगी। इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से मोबाइल नंबर 9754002200 को सार्वजनिक किया गया है। इस मोबाइल नंबर पर लोग फोन कर दवा और राशन घर में मंगा सकते हैं।

इसके लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा। लेकिन जनता से आग्रह किया गया है कि अति आवश्यक होने पर ही फोन करें। सहयोग सिर्फ एक व्यक्ति एक परिवार को नहीं करना है, जिसने फोन किया संभव है कि उससे भी ज्यादा जरूरतमंद कोई हो और वह फोन नहीं कर सका हो, इसलिए अति आवश्यक होने पर ही होम डिलीवरी सेवा का लाभ लेने के लिए प्रेरित किया गया है। जिला प्रशासन ने निगम के सहयोग से यह व्यवस्था सुनिश्चित की है।

सामाजिक दूरी की भी हुई व्यवस्था

कोरोना को हराने के लिए सामाजिक दूरी को सबसे सशक्त और कारगर उपाय माना गया है। इस उपाय को अंबिकापुर शहर में अमलीजामा पहनाने की शुरुआत भी कर दी गई है। 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान अति आवश्यक सेवाओं को बहाल रखा गया है। ऐसे व्यवसायिक प्रतिष्ठान जिसे लॉकडाउन से मुक्त रखा गया है, वहां सामाजिक दूरी बनाए रखने की व्यवस्था की गई है। किराना, राशन, फल आदि दुकानों के बाहर एक निर्धारित दूरी पर माकिर्ग की गई है। एक साथ कई ग्राहकों के आ जाने के बावजूद एक निश्चित दूरी पर लोग खड़े हो इसके लिए व्यवस्था बनाई गई है। निर्धारित स्थल पर निश्चित दूरी में खड़े होकर लोग अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं और संबंधित व्यवसायिक प्रतिष्ठान से सामग्री प्राप्त कर रहे हैं। इस नई व्यवस्था का पालन करने में भी लोग रुचि दिखा रहे हैं।

सोशल मीडिया पर पुलिस की सख्त नजर

सोशल मीडिया पर पुलिस और प्रशासन की कड़ी नजर है। ऐसी कोई भी पोस्ट जो कोरोना वायरस को लेकर जनता को भ्रमित कर उनमें भय का माहौल उत्पन्न् करें, उसकी पड़ताल भी पुलिस और प्रशासनिक स्तर पर शुरू हो चुकी है। सरगुजा जिले में कोरोना वायरस को लेकर तथ्यहीन, भ्रामक और झूठी पोस्ट सोशल मीडिया में वायरल करने के आरोप पर अंबिकापुर के कोतवाली थाने में 12 घंटे के भीतर दो आपराधिक प्रकरण दर्ज किये गए है।

सैनिटाइजर व मास्क की भी व्यवस्था

अंबिकापुर शहर में सैनिटाइजर और मास्क की कमी को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से न्यूनतम दाम पर यह दोनों सामग्री उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तल ने बताया कि जिले के विभिन्न् महिला समूह के माध्यम से सैनिटाइजर और मात्र बनाए जा रहे हैं। इसकी भी कहीं कोई कमी नहीं है। यदि जनता को इसकी आवश्यकता हो तो जिला न्यायालय के सामने दूधसागर डेयरी को इसका वितरण केंद्र बनाया गया है। लोग निर्धारित न्यूनतम मूल्य पर महिला समूह द्वारा तैयार सैनिटाइजर और मास्क प्राप्त कर सकते हैं। सरगुजा जिले में डब्ल्यूएचओ के मानक अनुरूप बड़ी संख्या में स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं ने मास्क बनाए हैं और सैनिटाइजर का निर्मांण भी उच्च गुणवत्ता के साथ किया गया है।

Posted By: Himanshu Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket