अंबिकापुर । सरगुजा सहित छत्तीसगढ़ प्रदेश के लगभग 500 मेडिकल छात्र किर्गिस्तान में फंसे हुए हैं। उन्हें भारत लाने की लगातार मांग की जा रही है। रामानुजगंज से कांग्रेसी विधायक बृहस्पति सिंह ने पिछले दिनों राज्यपाल को पत्र प्रेषित कर मेडिकल छात्रों को वापस लाए जाने की मांग की थी। गुरुवार को कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत ने भी किर्गिस्तान में फंसे मेडिकल छात्रों को वापस लाए जाने की मांग मुख्यमंत्री से की है । उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र भी सौंपा है और मेडिकल छात्रों की संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराई है।

कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत ने बताया कि सरगुजा संभाग के अलावा छत्तीसगढ़ प्रदेश के लगभग 500 छात्र किर्गिस्तान मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई कर रहे हैं। मेडिकल छात्रों की इच्छा घर वापस लौटने की है। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए मेडिकल छात्रों के अभिभावक भी लगातार अपने अपने बच्चों से संपर्क कर स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

सभी की मंशा है कि संकट के इस दौर में उनके बच्चे भी घर वापस लौट आएं। कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि वे इस संवेदनशील मसले पर पहल करते हुए प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री से आग्रह कर तत्काल किर्गिस्तान में फंसे मेडिकल छात्रों को छत्तीसगढ़ वापस लाने की व्यवस्था बनाएं।

किर्गिस्तान में छत्तीसगढ़ के लगभग सभी संभाग के बच्चे मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं, इसमें अंबिकापुर के अलावा बलरामपुर और सूरजपुर जिले के भी विद्यार्थी शामिल है। इसके पहले विधायक बृहस्पति सिंह ने राज्यपाल अनुसुइया उइके को पत्र प्रेषित कर मेडिकल छात्रों को वापस लाने की मांग की थी। विधायक के पत्र के आधार पर राज्यपाल अनुसुइया उइके ने विदेश मंत्री एस जयशंकर को पत्र लिखा था और आवश्यक कदम उठाए जाने आग्रह किया था।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस