अंबिकापुर। Coronavirus Update Chhattisgarh: केंद्रीय जेल में कोरोना की दस्तक के बाद जेल के अंदर कोविड की वास्तविक स्थिति क्या है, इसे जानने के लिए शुक्रवार को दो सौ बंदियों, कैदियों का सेंपल लिया गया। देर शाम मिली जांच रिपोर्ट में 67 बंदियों के कोरोना पाॅजिटिव निकलने से हड़कंप की स्थिति बन गई है।

केंद्रीय जेल के अधीक्षक राजेंद्र गायकवाड़ ने जेल में निरुद्ध बंदियों, कैदियों के कोविड जांच हेतु स्वास्थ्य विभाग से एक माह पूर्व आग्रह किया था। इसके बाद कुछ बंदियों का सेंपल भी स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लिया, लेकिन जांच रिपोर्ट मिलने में हुई लेट-लतीफी के कारण जेल प्रबंधन कुछ कह पाने की स्थिति में नहीं था। मेडिकल कॉलेज अस्पताल के कोविड जांच केंद्र में सेंपल देने के बाद तीन बंदियों की रिपोर्ट पाॅजिटिव मिलने से जेल प्रबंधन हरकत में आया और सर्दी, खासी, बुखार जैसी शिकायत करने वाले दो सौ बंदियों का प्राथमिकता देते हुए जांच कराया था।

जांच नहीं होने तक ऐसे बंदियों के रहने की व्यवस्था पृथक से की गई थी। एक दिन की जांच में 67 कोरोना संक्रमितों के मिलने के बाद जेल प्रबंधन ऐसे बैरकों को कोविड वार्ड का रूप देने की तैयारी में है, जिसका उपयोग कोविड के बंदियों को भर्ती करने के लिए किया जा सके। केंद्रीय जेल में वर्तमान में 22 सौ से अधिक कैदी-बंदी है, इनमें पुरुष बंदियों की संख्या लगभग दो हजार है। इसके अलावा 172 महिलाओं के साथ एक दर्जन से अधिक बच्चे हैं।

इतनी तादाद में बंदियों के रहने से यहां कोरोना संक्रमण का संकेत मिलते ही जेल प्रबंधन एलर्ट है। सभी बंदियों, कैदियों का सैंपल लेने कोविड की चुनौती से जूझ रही मेडिकल कॉलेज अस्पताल के स्वास्थ्य विभाग की टीम शुक्रवार को केंद्रीय जेल पहुंची। इन बंदी, कैदियों को मेडिकल कॉलेज अस्पताल के कोविड जांच केंद्र में ले जाकर इलाज जांच कराना भी जेल प्रबंधन के लिए चुनौतीपूर्ण था।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020