उदयपुर(नईदुनिया न्यूज)। सरगुजा जिले के उदयपुर वन परिक्षेत्र के ग्राम आमाडुगु के समीप वाहन जब्ती का आरोप लगा आधा दर्जन युवकों ने डिप्टी रेंजर व वन रक्षक पर जानलेवा हमला कर दिया। किसी तरह दोनों जान बचाकर भागने में सफल रहे। घटना की गंभीरता को देखते हुए उदयपुर पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। चार आरोपित फरार है। उनकी खोजबीन की जा रही है।

बुधवार की शाम वन परिक्षेत्र उदयपुर में डिप्टी रेंजर अरुण सिंह एवं वनरक्षक आर्मो कुमार सिंह बीट भ्रमण कर बाइक में सवार होकर वापस डांडगांव आ रहे थे। ग्राम आमाडुगु में रास्ता रोककर आरोपित रजबंध और उसके साथियों ने वन कर्मचारियों पर गाली-गलौज करते हुए लाठी-डंडे से हमला कर दिया। हमलावर, गाड़ी जब्ती का आरोप लगा रहे थे। जान से मारने की धमकी देते हुए आरोपित रजबंध ने डंडा से आर्मो कुमार सिंह के सिर में प्राणघातक हमला करते हुए गंभीर चोट पहुंचाया, जिससे खून निकलने लगा, डिप्टी रेंजर अरुण सिंह बीच-बचाव करने लगे तो आरोपित रजबंध के साथी उन्हे भी हाथ मुक्का से मारपीट किए। आरोपित विधुन ने भी वन रक्षक आर्मो कुमार सिंह की डंडे से बेदम पिटाई की। मारपीट हो-हल्ला सुनकर राईचुनवा निवासी राकेश ने बीच बचाव किया, तब डिप्टी रेंजर व वन रक्षक ने भागकर किसी तरह अपनी जान बचाई। घटना की सूचना वन परिक्षेत्र अधिकारी उदयपुर को देने के बाद वन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अमरनाथ राजवाड़े के साथ थाना पहुंचकर आरोपियों के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध कराने ज्ञापन सौंपा गया। उदयपुर पुलिस ने धारा 147, 294, 186, 353, 332, 341, 307 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर एक्शन लेते हुए दो नामजद आरोपी रजबंध तथा विधुन को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया जहां से दोनों आरोपितों को जेल भेज दिया गया है। विवेचना के दौरान चार और आरोपितों के नाम सामने आए है जो कि अभी तक फरार है। थाना प्रभारी मनीष धुर्वे ने बताया कि दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है, उन्हें न्यायालय से जेल भेज दिया गया है। फरार चार आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इस कार्रवाई में उप निरीक्षक ओम प्रकाश यादव, बीआर कश्यप, प्रधान आरक्षक ज्ञानचंद, आरक्षक शिवप्रताप, संजीव पांडे सक्रिय रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket