चांदो। नईदुनिया न्यूज

बलरामपुर जिले के चांदो थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कंदरी, कमरपारा में खेत में बने गड्ढे में गिरने से दो मासूम बच्चों की मौत हो गई। घटना को लेकर गांव में शोक का माहौल है। सूचना मिलने पर मौके पर थाना स्टॉफ और तहसीलदार पहुंचे और दोनों बच्चों के शव को बाहर निकालकर पंचनामा की कार्रवाई की गई।

जानकारी के मुताबिक चांदो के कंदरी कमरपारा का रामबरन खैरवार मछलीढोढ़ा नाला में अपने खेत में रोपा लगाने के लिए परिवार के साथ गया था। हल चलाते समय शुक्रवार को दिन में लगभग 11 बजे रामबरन का चार वर्षीय पुत्र चिंतामणी और फूलचंद कंवर का तीन वर्षीय पुत्र मनोज खेलते-खेलते खेत में पहुंच गए। रामबरन की इन पर नजर पड़ी, लेकिन हल चला रहे पिता ने उन्हें कुछ नहीं कहा। कुछ देर बाद दोनों बच्चे नजर नहीं आए, तो उसने सोंचा कि बच्चे घर चले गए होंगे। इधर खेत में रोपा लगाने के लिए आई पत्नी से रामबरन ने पुत्र चिंतामणी के बारे में पूछताछ की तो उसने बच्चे के घर में नहीं होने की जानकारी दी। इसके बाद बच्चे की खोजबीन शुरू हुई तो चिंतामणी और मनोज खेत में बारिश से बने पानी से लबालब गड्ढे में डूबे हुए मिले। उन्हें बाहर निकाला गया लेकिन दोनों की मौत हो गई थी। सूचना मिलने पर मौके पर चांदो थाना से एसआई एन.पटेल और तहसीलदार पहुंचे और पंचनामा किया। इधर बच्चों के डूबने की सूचना मिलने पर गांव के लोगों का हुजूम जमा हो गया। छोटे बच्चों की मौत से परिजन सहित ग्रामीणों में शोक का माहौल है।

गांव में ही पोस्टमार्टम-

खेत में बने गड्ढे में भरे पानी में डूबने से बच्चों के मौत की पुष्टि घटनास्थल पर पहुंचे चिकित्सक ने की। गांव में ही दोनों बच्चों के शव का पोस्टमार्टम कराया गया। इसके बाद गमगीन माहौल में दोनों का अंतिम संस्कार हुआ। मौके पर पहुंचे तहसीलदार ने बच्चों की असामयिक मौत पर संवेदना व्यक्त करते घटना को दुःखद जताया और मामले का प्रकरण बनाने का निर्देश दिया है। दोनों बच्चों के परिजनों को बतौर मुआवजा चार-चार लाख रुपये दिया जाएगा।

-------------------