प्रतापपुर (नईदुनिया न्यूज)। सूरजपुर जिला अंतर्गत तमोर पिंगला अभयारण्य के दुर्गई एक के कक्ष क्रमांक 871 में एक नर हाथी की बेंगची नाला में गिरने से मौत हो गई। हाथी के एक सप्ताह पूर्व मौत होने की संभावना जताई जा रही है। सूचना पर शुक्रवार को पशु चिकित्सक डा. महेन्द्र पांडेय, डा. एसएन पटेल ने मृत हाथी का पोस्टमार्टम किया। इस दौरान तमोर पिंगला अभयारण्य के गेम रेंजर अजय सोनी, घुई के वन परिक्षेत्र अधिकारी शैलेष गुप्ता व वन विभाग के कर्मचारी मौजूद रहे। पशु चिकित्सकों के अनुसार मृत हाथी की उम्र लगभग पांच से छह वर्ष के बीच है तथा एक सप्ताह पूर्व ही उसकी मौत हो चुकी थी। संभवत: हाथी बेंगची नाला से पच्चीस फीट की ऊंचाई पर स्थित चट्टान के ऊपर चल रहा होगा इसी दौरान फिसल जाने से वह नाले में गिर गया होगा जिससे उसकी मौत हो गई।

ग्रामीणों ने वन विभाग को दी जानकारी-

पशु चिकित्सक डा. महेन्द्र पांडेय के अनुसार हाथी की मौत 15 से 16 सितंबर के बीच हुई थी। रात दिन जंगल की निगरानी करने का दावा करने वाले वन विभाग के किसी भी अधिकारी या कर्मचारी को इसकी खबर नहीं हुई। वन विभाग को तो हाथी की मौत हो जाने की जानकारी तब मिली जब 21 सितंबर को जलावन लेने जंगल गए कुछ ग्रामीणों ने हाथी के शव को बेंगची नाले में पड़ा देखा और वहां से शाम को लौटकर इसकी सूचना वन विभाग को दी। बता दें कि तमोर पिंगला अभयारण्य और घुई वन परिक्षेत्र दोनों आपस में सटे हुए हैं फिर भी घ्ाटना की जानकारी वन विभाग को एक सप्ताह के बाद मिली। इससे पूर्व भी तमोर पिंगला अभयारण्य में ही एक हाथी की मौत की जानकारी वन विभाग को तब हुई थी जब हाथी का शव पूरी तरह से सड़ कर गल चुका था।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close