अंबिकापुर । नगर से लगे सरगवां गौठान में एक अनूठी पहल की गई है। यहां ग्रामीणों द्वारा गौठान के बेहतर संचालन के लिए रोज एक मुट्ठी अनाज निकाला जाएगा। अन्न बैंक की स्थापना की जा रही है। इसके लिए भारत कृषक समाज प्रमुख व वृक्षमित्र ओपी अग्रवाल की पहल पर ग्रामीणों को अन्न बैंक के लिए एक-एक प्लास्टिक की छोटी बाल्टी उपलब्ध कराई गई है, जिसमें घर में खाना बनाने वाली महिलाएं चावल धोने से पूर्व एक मुट्ठी निकालकर इस प्लास्टिक के बाल्टी में डालेंगे।

एक माह में जितना भी अनाज जमा होगा इसे सरगवां गौठान में उपलब्ध कराएंगे। इससे महीने में एक बार गांव के गौठान में खिचड़ी भोज के साथ जमा चावल का उपयोग संचालन एवं वहां की व्यवस्था के लिए किया जाएगा। प्रथम चरण में आज 100 ग्रामीणों को अन्न बैंक के लिए भारत कृषक समाज की ओर से प्लास्टिक की बाल्टी उपलब्ध कराई गई है। बाल्टी में भारत कृषक समाज का स्टीकर भी लगा है ताकि लोगों को इस अन्न बैंक की जानकारी मिले। कार्यक्रम में काफी संख्या में जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे। सभी ने गौठान के लिए शुरू किए गए इस अन्न बैंक की जमकर तारीफ की।

कार्यक्रम में वृक्षमित्र ओपी अग्रवाल ने कहा कि सरगवां के ग्रामीणों की पहल पूरे जिले ही नहीं पूरे प्रदेश तक पहुंचेगी। सरकार ने गौठान खोल दिया और उसके संचालन और रखरखाव की जिम्मेदारी सरकार पर ही हो इससे गौठान सफल नहीं होंगे। जब तक जनभागीदारी नहीं होगी गौठान की सफलता के लिए हम सभी को आगे आना होगा। सब कुछ सरकार की जिम्मेदारी नहीं होती।

गौठान के लिए हम सब मिलकर प्रयास करें ताकि यह गौठान मॉडल बन सके। आप लोगों के एक-एक मुट्ठी चावल से आपके घर की रसोई कमजोर नहीं होगी पर गौठान जरूर कामयाब होगा। यहां की देखरेख करने वाले के लिए चावल भी मिल जाएगा और अधिक चावल होने पर गौठान के लिए उपयोग किया जा सकता है।

कार्यक्रम को भारत कृषक समाज के कार्यकारी अध्यक्ष व सूरजपुर जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विंध्येश्वर शरण सिंहदेव ने कहा कि भारत कृषक समाज की यह पहल निश्चित पूरे जिले के लिए प्रेरणा का काम करेगी। हर गांव के व्यक्ति यह सोच ले कि अपने घर से एक मुट्ठी अनाज रोज अन्न बैंक के लिए निकालेगा तो निश्चित रूप से बड़ी मात्रा में अनाज जमा हो जाएगा, जिसका उपयोग किसी भी उद्देश्य के लिए किया जा सकता है।

जिला पंचायत सदस्य राकेश गुप्ता ने भारत कृषक समाज की इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि गौठान के बेहतर संचालन के लिए यह पहल भविष्य में बहुत बड़ा साबित होगा। जनसमुदाय जब सरकारी योजना में भागीदार बनता है तभी उसकी सफलता भी मिलती है और यदि आज सरगवां के ग्रामीण इस गौठान के लिए भागीदार बने हैं तो निश्चित रूप से गौठान मॉडल बनेगा।

कार्यक्रम का संचालन कांग्रेस पिछड़ा वर्ग के प्रदेश महामंत्री लक्ष्मी गुप्ता ने किया। इसके पूर्व गौठान के गाय को चारा खिला पूजा-अर्चना कर माला पहना कार्यक्रम की शुरुआत की गई। काफी संख्या में जुटे ग्रामीणों ने एक-एक मुठ्ठी चावल निकालने की शपथ ली। भारत कृषक समाज के ओपी अग्रवाल ने दिलाई। शासकीय अधिवक्ता संतोष सिंह, कार्तिकेय जायसवाल, सरगवां के उपसरपंच कृष्णा सिंह, केपी दीक्षित, पूरन सिंह, कुमुद शुक्ला, प्रगतिशील कृषक निलाभ शर्मा आदि मौजूद थे।

गांव के हर घर में होगा अन्न बैंक

सरगवां के हर घर में आने वाले दिनों में एक-एक प्लास्टिक की बाल्टी उपलब्ध कराई जाएगी जिसमें घर की महिलाएं खाना बनाने से पहले एक मुठ्ठी चावल डालेंगी। प्रथम चरण में कम लोगों से इसकी शुरुआत हुई है। गांव की महिलाओं ने शपथ लेने के साथ संकल्प भी लिया है कि चावल बनाने से पहले एक मुठ्ठी इस अन्न बैंक में रखेंगी।

शपथ लेने वाले को मिली बाल्टी

सरगवां में जो लोग शपथ लिए हैं उनका नाम भी शपथ पत्र में अंकित है। शपथ लेने वाले को ही बाल्टी दी जा रही है ताकि यह पता चल सके कि गांव में कितने लोगों ने अन्न बैंक की शुरुआत की है। ग्रामीणों ने भी कहा है कि जो संकल्प लिया है उस पर खरा उतरेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network