अंबिकापुर । गड्ढों में तब्दील हो चुका प्रतापपुर-चंदौरा मार्ग क्षेत्र के लोगों के लिए मुसीबत का कारण बन गया है। प्रतापपुर क्षेत्र को बनारस मार्ग से जोड़ने वाले प्रमुख मार्ग में आने-जाने वाले लोग जान हथेली पर रखकर चलने मजबूर हैं। गड्ढों के कारण वाहन चालक कुछ किमी की यात्रा घंटों में तय करते हैं। इसी गड्ढे में पड़कर बुधवार तड़के फ्लाइएश ईंट के निर्माण में काम आने वाला राखड़ लेकर प्रतापपुर जा रहा एक अठारह चक्का ट्रक ग्राम डोमहत में फंस गया। इसके कारण मार्ग में यातायात बंद हो गया। ट्रक में सवार मो. अमीन ने बताया कि जिस जगह पर ट्रक फंसा हुआ है वहां जमीन के नीचे से पानी का रिसाव हो रहा है जिसके कारण लगभ्ाग पचास टन से ऊपर राख लोड ट्रक एक्सीवेेेेेटर मशीन से नहीं निकल पा रहा है। मात्र सात किलोमीटर का यह हिस्सा क्षेत्रवासियों के लिए आफत का कारण बना हुआ है। दशकों से धूल और गड्ढों से पटे पड़े इस मार्ग की दशा सुधारने कोई पहल नहीं हो रही है। क्षेत्रवासियों की मांग पर नईदुनिया ने इस समस्या को समाचार के माध्यम से शासन प्रशासन का ध्यानाकर्षित कराया जा चुका है।

नवीनीकरण की मिल चुकी है स्वीकृति-

पीडब्ल्यूडी के अनुसार इस मार्ग के नवीनीकरण के लिए 11.66 करोड़ की राशि स्वीकृत हो चुकी है। वर्षाकाल के बाद यहां कार्य शुरू कराया जाएगा। इधर बनारस रोड की स्थिति जस की तस बनी हुई है। यहां के गड्ढों को नहीं भरा गया है। इसके कारण गड्ढों वाले इस मार्ग में चलने वाले वाहनों में रोजाना टूट-फूट होनेे से वाहन मालिकों को आर्थिक नुकसान हो रहा है। सड़क की बदहाली से क्षेत्रवासियों में नाराजगी है।

बच्चों की पढ़ाई हो रही प्रभावित

इस मार्ग की हालत इतनी जर्जर है कि लगभग एक माह से यात्री बसों के साथ साथ स्कूली वाहनों का भी चलना बंद हो गया है। आवाजाही को ग्रामीण परेशान हैं। स्कूल और कालेज जाने वाले बच्चों की पढ़ाई भी खस्ताहाल सड़क के कारण प्रभावित हो रही है। यात्री बसें टूट-फूट से बचने अपना रुट बदलकर ग्राम सरहरी से होते हुए बनारस मार्ग की ओर जा रही हैं।

कुछ दिनों पहले भी फंसे थे वाहन-

इसी मार्ग में कुछ दिन पूर्व साथ दो ट्रक गड्ढे में फंस गए थे जिसके कारण तीन दिनों तक यह मार्ग पूरी तरह से बंद था। उस समय मार्ग की दशा सुधारने जिम्मेदार लोगों ने कोई ध्यान नहीं दिया। जबकि मुख्यमंत्री ने कुछ दिनों पूर्व ही पीडब्ल्यूडी काेेखराब मार्गों की स्थिति को जल्द सुधारने के निर्देश दिए थे। इसके बाद भी अधिकारियों पर इस निर्देेश का कोई असर नहीं हो रहा है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close