बिश्रामपुर (नईदुनिया न्यूज)। एसईसीएल बिश्रामपुर क्षेत्र की रेहर भूमिगत परियोजना के कोल स्टाक में भारी गड़बड़ी की शिकायत पर प्रारंभिक जांच में करीब ढाई हजार टन कोयले की स्टाक में कमी पाए के मामले में कंपनी के विजिलेंस विभाग द्वारा जांच कार्रवाई तेज कर दी गई है। संबंधित सूत्रों की माने तो विजिलेंस विभाग की टीम द्वारा इस मामले में खदान के तत्कालीन मैनेजर एवं सर्वेयर के अलावा संबंधित कोयला अधिकारियों को जांच के लिए अलग अलग तिथियों में कंपनी मुख्यालय तलब किया गया है। इससे खलबली मच गई है। प्रारंभिक जांच में गड़बड़ी पाए जाने के बाद विगत दिनों खदान के मैनेजर एवं सर्वेयर का तबादला भी कर दिया गया है।

बता दें कि खान प्रबंधन के खिलाफ हजारों टन कोयले की हेराफेरी की शिकायत सुजीत कुमार नाम से राष्ट्रपति समेत प्रधानमंत्री, सीबीआई एवं अन्य आला अधिकारियों से की गई थी। मामला एसईसीएल बिश्रामपुर की रेहर भूमिगत परियोजना का है। एसईसीएल की भूमिगत परियोजना के कोल स्टाक में कोयले की भारी कमी को लेकर की गई शिकायत में बताया गया था कि खदान के कोयला स्टाक में कोयले की भारी कमी है। खान प्रबंधन द्वारा कोयले की गड़बड़ी की गई है। शिकायत में इस बात का भी उल्लेख किया गया था कि खान प्रबंधन द्वारा कोयला स्टाक में कोयले की कमी को पूरा करने के लिए कोयला स्टाक में मलबा और सेल मिलाया जा रहा है। कंपनी मुख्यालय से यहां पहुंचे विजिलेंस विभाग के संजय दास, एसके निगम एवं प्रोडक्शन विभाग के वीआर पांडेय, चंदन शाह की टीम द्वारा कोयला स्टाक में गड़बड़ी की शिकायत की जांच बारीकी से की थी। इसमंें करीब ढाई हजार टन कोयला स्टाक में कम पाए जाने की जानकारी सूत्रों ने दी थी, हालांकि इस संबंध में एसईसीएल के संबंधित अधिकारी कुछ भी जानकारी देने में असमर्थता जाहिर कर रहे हैं।

तबादले से भी होने लगी थी पुष्टि-

विजिलेंस टीम की प्रारंभिक जांच के बाद खान प्रबंधक एवं सर्वेयर साथ-साथ क्षेत्रीय मुख्यालय में पदस्थ दो कोयला अधिकारियों का तबादला अन्य क्षेत्रों में किए जाने से ही कोयला स्टाक में गड़बड़ी की पुष्टि होती नजर आ रही है। रेहर खदान के मैनेजर फिरोज मोहम्मद अंसारी का तबादला जोहिला क्षेत्र तथा खदान के सहायक प्रबंधक सर्वे सुनील कुमार गुप्ता का तबादला बैकुंठपुर क्षेत्र कर दिए जाने के बाद विजिलेंस विभाग की टीम द्वारा संबंधित मामले में जांच के लिए उन्हें एसईसीएल मुख्यालय बिलासपुर तलब किया गया है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close