बिश्रामपुर (नईदुनिया न्यूज)। शुक्रवार को सुबह जमदेई गांव के राझा पारा में घायल अवस्था में मिले जंगली नर चीतल की मौत हो गई। पोस्टमार्टम से खुलासा हुआ कि चीतल पर टांगी से हमला किया गया था। जिस कारण उसकी मौत हुई। वन्य प्राणी नर चीतल की मौत के मामले में वन विभाग ने वन अपराध दर्ज कर मामले की जांच प्रारंभ कर दी है।

बताया गया कि जयनगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम जमदेई के राझा पारा में शुक्रवार की सुबह घायल अवस्था में जंगली नर चीतल पाया गया था। ग्रामीणों की माने तो नर चीतल खेत का जंगल तरफ से भटकते हुए गांव में पहुंचा था। सूचना मिलते ही घटनास्थल पर पहुंची वन महकमे की टीम ने घायल अवस्था में पड़े वन्य प्राणी चीतल का उपचार कराने उसे वाहन में लोड किया। इसी बीच पशु चिकित्सालय बिश्रामपुर ले जाते समय सहायक वन क्षेत्राधिकारी कार्यालय जयनगर पहुंचते तक घायल चीतल ने दम तोड़ दिया। सहायक वन परिक्षेत्र अधिकारी धीरेंद्र सिंह ने बताया कि कुत्ते चीतल को दौड़ा रहे थे। संभवत कुत्तों के काटने से ही चीतल की मौत हुई है।

पीएम में हुआ हमले से मौत का खुलासा-

स्थानीय पशु चिकित्सालय में पशु चिकित्सा अधिकारी डा. महेंद्र पांडेय द्वारा मृत वन्य प्राणी नर चीतल का पोस्टमार्टम किया गया। पोस्टमार्टम से इस बात का खुलासा हुआ कि चीतल के दोनों पैरों पर टांगी से हमला किया गया था। जिसकी वजह से उसकी मौत हुई है। चीतल की उम्र करीब सात वर्ष बताई जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना