अंबिकापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने की चल रही कवायदों के बीच सौ बेड के अस्पताल को मूर्तरूप दिया जा रहा है। पुराने वार्ड कोरोना वार्ड के रूप में तैयार किए जा रहे हैं। शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय से संबद्घ जिला रघुनाथ चिकित्सालय के चिकित्सा अधीक्षक का पदभार सीएमएचओ डॉ.पीएस सिसोदिया को शासन स्तर से सौंपने के बाद वे अधिकतर समय अस्पताल में दे रहे हैं।

सीएमएचओ के साथ चिकित्सा अधीक्षक की दोहरी जिम्मेदारी मिलने के बाद उन्होंने पहले चरण में सभी विभाग के चिकित्सकों व स्टॉफ की बैठक ली। अस्पताल में राउंड के दौरान कई छोटी-बड़ी कमियां सामने आई, इसे लेकर उन्होंने जिम्मेदार कर्मचारियों की क्लास भी ली। नईदुनिया से चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि हम सभी टीम के रूप में काम कर रहे हैं। कोविड-19 की चुनौतियों के बीच चिकित्सा अधीक्षक के रूप में उन्हें मेडिकल कॉलेज अस्पताल का जो दायित्व दिया गया है, उसे पूरी तन्मयता के साथ पूरा करने की कोशिश में वे लगे हैं। उन्होंने बताया कि सरगुजा जिले में 14 सौ ऐसे लोगों की पहचान की गई है, जो दूसरे राज्यों से होकर यहां आए थे। डोर टू डोर सर्वे में अगर कोई ऐसा व्यक्ति सामने आ रहा है, जो बाहरी राज्यों से आया हो, उसे तत्काल होम आइसोलेशन में करने कहा गया है। कोरोना के संभावित संक्रमितों में 51 का सेंपल रायपुर भेजा गया था, इनमें से 48 की रिपोर्ट निगेटिव आई है, तीन लोगों के रिपोर्ट का इंतजार है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर चलती तैयारियों के बीच प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री की मंशा के अनुरूप एमसीएच में एसएनसीयू को शिफ्ट करना है। अस्पताल में काम करने वाले सभी लोग अपने दायित्वों को समझें और अपनी ड्यूटी को गंभीरता से लें तो किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी। डॉ.सिसोदिया ने कहा कि जनता और चिकित्सक के बीच बेहतर संवाद हो, इसकी पहल उनके द्वारा की जाएगी।

बनाएंगे परामर्श कमेटी-

सीएमएचओ सह अस्पताल अधीक्षक डॉ.पीएस सिसोदिया ने कहा कि अस्पताल की व्यवस्थाओं में तब्दीली के साथ जनता और चिकित्सक के बीच संवादहीनता को दूर करने के लिए वे परामर्श कमेटी का गठन करेंगे। यहां आमजनों की समस्या सामने आएगी। परामर्श कमेटी में स्वयं सेवी, सिविल सोसायटी के लोग रहेंगे, इन तक पहुंचने वाली बातों को गंभीरता से लिया जाएगा, ताकि अस्पताल में आने वाले लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा का लाभ मिले।

बैठेंगे मंत्री प्रतिनिधि भी-

डॉ.सिसोदिया ने कहा अस्पताल शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय से संबद्घ है। संभाग के इस अस्पताल से लोगों को काफी उम्मीदें है। अस्पताल में मंत्री प्रतिनिधि बैठें, इसके लिए सहायक अधीक्षक का कक्ष उन्होंने चुना है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव प्रदेश के अस्पतालों की व्यवस्था में सुधार के लिए काफी प्रयास कर रहे हैं। मेडिकल कॉलेज अस्पताल के लिए उन्होंने 50 लाख रुपये दिया है। इससे वेंटीलेटर उपलब्ध कराने शासन की एजेंसी से पत्र व्यवहार किया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना