अंबिकापुर। लॉक डाउन का सख्ती से पालन हो, यह सुनिश्चित करने के लिए पुिलस लगातार सख्ती बरत रही है। पुलिस महानिरीक्षक ने भी शहर की सडक पर पैदल मार्च कर लोगों को लॉक डाउन का पालन करने के लिए आगाह किया था। इसके बावजूद अकारण घूमने वाले हालात को समझे बगैर लॉक डाउन का उल्लंघन कर रहे हैं। जरूरी सामान और राशन के बहाने के अलावा लोग मॉर्निग और ईवनिंग वॉक के नाम पर घूमने निकल रहे हैं। ऐसे लोगों पर अब पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। मंगलवार को कोतवाली पुलिस वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में अलसुबह ऐसे स्थलों पर पहुंची जहां मॉर्निंग वॉक के लिए लोगों का पहुंचना होता था। पुलिस स्टेडियम, पीजी कॉलेज, मल्टीपरपज स्कूल मैदान से 97 लोगों को सांकेतिक कब्जे में लेकर उनसे लॉकडाउन के मौके पर मॉर्निंग वॉक से दूरी बनाने का आग्रह यह कहते हुए कि, जब घर के बड़े बुजुर्ग ही घर से बाहर निकलेंगे तो बच्चे कहां से मानेंगे। कोतवाली थाना के एसएचओ विलियम टोप्पो ने सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने घर में हों या बाहर, प्रेरित किया। उन्होंने कहा पुलिस पूछताछ करे तो सामान, दवा लेने की बहानेबाजी युवा ही नहीं बुजुर्ग भी करते हैं। पुलिस ने समझाइश दी कि पीएम ने लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के निर्देश अपने लिए नहीं, आप सभी के स्वास्थ्य की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए दिए हैं। कोरोना को हराने हर हाल में घर में रहने की हिदायत दी है। लोग घर से सिर्फ जरूरत का सामान लेने के लिए ही निकल सकते हैं। मॉर्निंग व इवनिंग वॉक पर पूरी तरह से रोक लगी है। घर में परिवार के बीच रहकर योग, एक्सरसाइज करने का अच्छा मौका उन्हें मिला है।

गलियों से घूमने वाले भी निशाने पर

लॉकडाउन व धारा 144 का पालन कराने के लिए मुख्य चौक-चौराहों पर पुलिस लगातार चेकिंग करती है, लेकिन गलियों में लॉकडाउन का जमकर उल्लंघन हो रहा था। सोमवार की शाम से ही पुलिस एक खाली बस के साथ गलियों और मोहल्लों में झुंड लगा गप हांकने वालों की खबर लेनी शुरू की और 83 लोगों को पकड़कर थाने ले आई। थाने आने के बाद इन्हें लॉकडाउन का मतलब समझ में आया। पुलिस की कार्रवाई के बीच कई घरों में घुस गए। पुलिस के जाने के बाद कई कुछ शटर बंद दुकानों से बाहर निकलते नजर आए।

पुलिस अधिकारी भी अलर्ट

आइजी रतनलाल डांगी के शहर भ्रमण के बाद सख्ती बरतने दिए गए निर्देश का परिपालन कराने स्वयं पुलिस अधीक्षक आशुतोष सिंह के अलावा एएसपी ओम चंदेल, सीएसपी एसएस पैकरा सुबह से देर रात तक चौक-चौराहे में डटे नजर आ रहे हैं। अधिकारियों के कभी भी सड़क पर निकलने से ड्यूटी में तैनात पुलिस भी पूरी तरह से सक्रिय है। बिना वजह घूमने वालों और लॉकडाउन तोड़ने वालों को सबक सिखाने थाने पहुंचाने और गाड़ियों को जब्त करने की कार्रवाई के बाद अनावश्यक शहर में तफरी करने वालों की तादाद कम हुई है।

दुष्प्रचार करने वाले भी निशाने पर

कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर सोशल मीडिया में दुष्प्रचार करने वाले भी पुलिस के निशाने पर हैं। ऐसी शिकायतों को पुलिस गंभीरता से लेकर साइबर क्राइम पुलिस को सौंप रही है। ऐसे लोगों के विरुद्ध धारा 188 और आइटी एक्ट का मामला दर्ज करने के बाद सोशल मीडिया का दुरुपयोग करने वाले लोगों पर लगाम लगा है, लेकिन पूरी तरह से रोक नहीं लग पाई है। पुलिस अधिकारियों का स्पष्ट निर्देश है कि भड़काऊ या कोरोना से सम्बंधित किसी के बारे में व्यक्तिगत संदेशों को सोशल मीडिया में सार्वजिनक नही करना है, ऐसा सामने आने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना