अंबिकापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा नजूल भूमि का पट्टा दिए जाने की घोषणा के बाद अचानक तहसीलदार द्वारा गांधीनगर इलाके में शासकीय मूल्य से 152 प्रतिशत अधिक राशि भुगतान करने पर पट्टा दिए जाने के नोटिस चस्पा किए जाने से नागरिकों की नाराजगी सामने आई तो रविवार की सुबह गांधीनगर इलाके में बड़ी संख्या में नागरिक एकजुट हुए और मेयर इन कौंसिल के सदस्य द्वितेंद्र मिश्रा को समझाइश देनी पड़ी। काफी संख्या में जुटे लोगों को मोबाइल पर ही वीडियो कालिंग कर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को आश्वासन देना पड़ा। मोबाइल से संबोधन में मंत्री सिंहदेव ने नागरिकों से कहा कि आप किसी भी नोटिस या कागज से न डरें। आपकी जमीन का एक ईंट भी कोई हिला नहीं सकेगा। हम सबके हित को ध्यान में रखकर कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आप किसी के बहकावे में न आएं। नियम-अधिनियम के तहत सरकार कार्य का रही है। पंचायत मंत्री सिंहदेव की समझाइश के बाद नागरिक शांत हुए।

गौरतलब है कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में शहर के नजूल भूमि पर 40-50 वर्षों से काबिज नागरिकों को पट्टा दिए जाने की घोषणा की थी। वर्षों से बिना भूमि स्वामी के हक के मकान बनाकर रह रहे लोगों को बड़ी राहत कांग्रेस की घोषणा से हुई थी। नगर निगम चुनाव से पूर्व सर्वे कर पट्टे का वितरण भी शुरू हो चुका था। यह प्रक्रिया भी जारी थी, इसी बीच अंबिकापुर तहसीलदार ने घर-घर नोटिस भेज दिया। नोटिस की भाषा से लोगों में भय व्याप्त हो गया। जारी नोटिस में पट्टा दिए जाने हेतु निर्धारित राशि की गणना शासकीय मूल्य से 152 प्रतिशत अधिक राशि का भुगतान किए जाने का उल्लेख था। यह राशि एकमुश्त जमा करने का भी जिक्र था, जिससे नजूल भूमि में काबिज लोग जो खप्परपोश मकान में निवासरत हैं, उनके लिए नई मुसीबत आन पड़ी। गांधीनगर के लोगों ने इसकी जानकारी जब मेयर इन कौंसिल के सदस्य व कांग्रेस मीडिया सेल के अध्यक्ष द्वितेंद्र मिश्रा को दी तो उन्होंने तत्काल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को अवगत कराया। उन्होंने तत्काल मंत्री सिंहदेव को पत्र भी लिखा और कहा कि तहसीलदार ने जो आदेश जारी किया है, वह शहर के नागरिकों के लिए कष्टदायक है और कांग्रेस के घोषणा के विपरीत है। इसको लेकर रविवार की सुबह जब काफी संख्या में नागरिक गांधीनगर चौराहे पर जमा हुए तो एमआइसी सदस्य द्वितेंद्र मिश्रा ने काफी समझाइश देने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि सरकार के मंत्रियों तक वे बातें पहुंचा रहे हैं। इस बीच उन्होंने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को मोबाइल पर वीडियो कालिंग किया और उपस्थित नागरिकों को उद्बोधन करने आग्रह किया। वीडियो कालिंग के जरिए मंत्री सिंहदेव ने नागरिकों को आश्वासन दिया है कि वे किसी भी भ्रांतियों में न आएं। उनकी जमीन उन्हीं की रहेगी। उनके घर, मकान की एक ईंट कोई हिला नहीं सकेगा। हम सबके हित को ध्यान में रखकर कार्य कर रहे हैं।

नागरिकों ने किस्त के रूप में राशि देने कहा

कई नागरिकों ने जब 152 प्रतिशत राशि का जोड़-घटाव किया और देने में सक्षमता जाहिर की और इसे किस्त के रूप में नियम बनाने व व्यवस्था करने की भी मांग रखी है। एमआइसी सदस्य द्वितेंद्र मिश्रा ने नागरिकों की इस मांग को शासन तक पहुंचाने का भरोसा दिया है।

प्रशासनिक अधिकारी गंभीरता बरतें- द्वितेंद्र

मेयर इन कौंसिल के सदस्य द्वितेंद्र मिश्रा ने कहा है कि इस तरह का आदेश प्रसारित कर देने में प्रशासनिक अधिकारी गंभीरता बरतें। जिले के जिम्मेदार अधिकारियों के पास समय ही नहीं कि वे नागरिकों तक सही जानकारी पहुंचा सकें। उन्होंने तहसीलदार सहित अन्य अधिकारियों को ऐसे आदेश प्रसारित करने से पहले जनप्रतिनिधियों से सलाह देने और चर्चा करने की भी नसीहत दी है। उन्होंने कहा है कि ऐसा कोई आदेश जारी करने से प्रशासनिक अधिकारी बचें और स्पष्ट जानकारी नागरिकों को दें।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket