बिश्रामपुर । रक्षाबंधन पर्व पर रिश्ते की बहनों से राखी बंधवाने सूरजपुर जिला स्थित अपने गृहग्राम कसकेला के लिए गुजरात के अहमदाबाद से निकले इसरो के युवा विज्ञानी दीपक कुमार पैकरा के रहस्यमय ढंग से गायब होने को लेकर मची खलबली के बीच ओड़िशा पुलिस ने शनिवार की शाम पुरी रेलवे स्टेशन से विज्ञानी दीपक पैकरा को बरामद कर लिया है। विज्ञानी के मिलने से पुलिस ने राहत की सांस ली है।

बता दें इसरो अहमदाबाद में विज्ञानी के पद पर पदस्थ युवा विज्ञानी दीपक कुमार पैकरा मूलत: सूरजपुर जिले के लटोरी चौकी क्षेत्र के ग्राम कसकेला के रहने वाले हैं। उनके पिता रामदास पैकरा एसईसीएल कर्मचारी हैं। दीपक पैकरा साल 2018-19 से इसरो अहमदाबाद गुजरात में वैज्ञानिक सी के पद पर कार्यरत है। युवा विज्ञानी दीपक कुमार पैकरा बीते पांच अगस्त को रक्षाबंधन पर्व पर अपने मूल निवास ग्राम कसकेला आने के लिए रवाना हुआ था, लेकिन उसके घ्ार नहीं पहुंचने पर परिजन अनहोनी की आशंका को लेकर लटोरी पुलिस को उक्ताशय की सूचना दी थी।

पांच अगस्त के बाद से उसका काल रिसीव नहीं किया जा रहा है और आठ अगस्त से उसका मोबाइल स्विच आफ बता रहा था। मोबाइल के टावर लोकेशन के आधार पर सात अगस्त को उसके ओडिशा के पुरी शहर में रहने की पुष्टि होने पर एसपी के निर्देश पर पुरी पहुंची पुलिस ने पड़ताल में पाया था कि विज्ञानी दीपक सात अगस्त को पुरी शहर के ब्लू मून होटल में ठहरा था और आठ अगस्त को तड़के होटल छोड़कर कहीं चला गया था। उसका पता नहीं चलने पर पुलिस टीम के साथ गए लापता विज्ञानी के चचेरे भाई राजेश पैकरा ने पुरी शहर के सी बीच थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई और उसके बाद पुलिस टीम बैरंग लौट आई थी।

विज्ञानी को लेकर आ रही है पुलिस-

ओडिशा पुलिस लापता विज्ञानी का सुराग लगाने में जुटी थी। इसी बीच सूचना मिलने पर शनिवार की शाम को पुलिस ने पुरी रेलवे स्टेशन से लापता विज्ञानी दीपक कुमार पैकरा को बरामद कर लटोरी पुलिस को उक्त आशय की सूचना दी। परिजनों के साथ एसपी के निर्देश पर तत्काल पुरी ओडिशा सा पहुंची। सूरजपुर पुलिस ने सी बीच पुलिस से लापता विज्ञानी को उसके छोटे भाई उमेश पैकरा के सुपुर्द करा कर उसे ग्राम कसकेला के लिए लेकर रवाना हो गई है।

एकांत में रहने नहीं कर रहा था काल रिसीव-

पुलिस से पूछताछ में विज्ञानी दीपक कुमार पैकरा ने बताया कि वह काम के बोझ से थक गया था इसलिए स्वजनों का काल रिसीव नहीं कर रहा था। वह अपनी इच्छा से पुरी आया था और होटल ब्लू मून का कमरा पसंद नहीं आने के कारण वह होटल ताज में जाकर ठहरा था। लापता विज्ञानी दीपक पैकरा के सकुशल मिलने उसके परिवार में खुशी का माहौल है और पुलिस ने राहत की सांस ली है। रविवार देर रात तक विज्ञानी दीपक के घर पहुंचने की संभावना है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close