अंबिकापुर । Ambikapur News : सरगुजा संभाग के बलरामपुर जिला अंतर्गत आने वाले गर्म जल स्रोत के लिए चर्चित तातापानी में इन दिनों सालाना महोत्सव चल रहा है। इस महोत्सव में इस बार गर्म पानी के स्रोत से उठने वाली जलधारा पर म्यूजिक फाउंटेन तैयार किया गया है। अत्याधुनिक तरीके से मोबाइल ऐप के जरिए इस फाउंटेन को कंट्रोल किया जाता है। गर्म पानी के स्रोत से उठने वाली भाप रंगीन लेजर लाइट के साथ गजब का नजारा पेश करती है। इस म्यूजिक फाउंटेन को देखने भीड़ उमड़ रही है। ऐसा अद्भुत नजारा छत्तीसगढ़ में कहीं और नजर नहीं आता। गर्म पानी फाउंटेन के माध्यम से काफी ऊंचाई तक निकल रहा है, जिसमें गर्म भाप के कारण रात में अद्भुत नजारा दिखता है। लेजर लाइट के माध्यम से तिरंगों का रंग भी दिखाया जा रहा है।

गर्म पानी के स्रोत में स्थापित फाउंटेन ने तातापानी को एक नई पहचान भी दे दी है। चुंकी पानी इतना गर्म होता है और इतना प्रेशर रहता है कि इसे कंट्रोल करना बहुत ही मुश्किल होता है, इसलिए लाइट्स लगवा कर साफ्टवेयर के माध्यम से मोबाइल एप से लाइट्स को कंट्रोल कर इफेक्ट देने का प्रयास किया जा रहा है।

मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से इस फाउंटेन को ऑपरेट करते हैं। एप का नाम 'इजी रिमोट तातापानी महोत्सव" दिया गया है। बलरामपुर कलेक्टर संजीव कुमार झा की पहल पर इस बार तातापानी गर्म जल स्रोत में लगाए गए फाउंटेन को अत्याधुनिक तकनीक दिया गया है, जिसमें युवा इंजीनियर विनीत दुबे की टीम ने अहम योगदान दिया है।

लेजर लाइट शो व कठपुतली नृत्य का आकर्षण

इस अत्याधुनिक फाउंटेन के अलावे तातापानी महोत्सव में इस बार लेजर लाइट शो व कठपुतली नृत्य आकर्षण का केंद्र हैं। विलुप्त हो रहे कठपुतली कला को यहां जीवित करने का काम आयोजकों ने किया है। झारखंड सीमा पर स्थित इस जिले में तातापानी महोत्सव में अपार भीड़ उमड़ रही है। सबकी पसंद शाम से हर रोज चालू होने वाला यह फाउंटेन और कठपुतली नृत्य है।

Posted By: Anandram Sahu

fantasy cricket
fantasy cricket