बिश्रामपुर। नईदुनिया न्यूज

नशे के कारोबार में संलिप्त क्षेत्र के चार युवकों को गिरफ्तार कर पुलिस ने उनके कब्जे से नशे के उपयोग में लाए जाने वाले 530 नग इंजेक्शन एवं 2016 नग कैप्सूल बरामद करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने नशीली दवाइयों के जखीरे के साथ ही अवैध कारोबार में लिप्त एक बाइक और एक स्कूटी को भी बरामद कर लिया है। गिरफ्तार आरोपित युवकों को न्यायालय ने जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया है। अभियान के दौरान विगत 22 अक्टूबर को भी बिश्रामपुर पुलिस ने नशीले इंजेक्शन के कारोबार में लिप्त नगर के दो युवकों से 372 नग इंजेक्शन बरामद करने में सफलता हासिल की थी।

ज्ञात हो कि कोयलांचल में नशीले इंजेक्शन का कारोबार तेजी से फल-फूल रहा है। कोयलांचल के सैकड़ों युवा नशीले इंजेक्शन के आदी हो गए हैं। इस कारण सैकड़ों परिवार बर्बादी की कगार पर पहुंच गए हैं। इस आशय की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए जिले के पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा ने समस्त थाना प्रभारियों को नशे के कारोबार पर लगाम लगाने के सख्त निर्देश दिए हैं। जिस पर जिलेभर में नशे के कारोबार पर अंकुश लगाने अभियान चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में बिश्रामपुर थाना प्रभारी कपिलदेव पांडेय को मुखबीर से सूचना मिली कि नगर के नशेड़ी प्रवृत्ति के युवक सन्नी पासवान द्वारा अपने अन्य सहयोगियों के साथ लंबे समय से मादक उत्तेजक दवाई एवं इंजेक्शन बिक्री का अवैध कारोबार संचालित किया जा रहा है। यह भी बताया गया कि सन्नी पासवान अपने तीन अन्य साथियों के साथ एक स्कूटी एवं एक बाइक में रामनगर की ओर नशीली दवाइयों को खपाने जा रहा है। मुखबिर की सूचना पर बिश्रामपुर थाना प्रभारी कपिलदेव पांडेय ने एसपी राजेश कुकरेजा को उक्त आशय की जानकारी देते हुए उनके निर्देश पर पुलिस टीम के साथ रामनगर के अटल चौक में घेराबंदी कर स्कूटी चालक सन्नी पासवान पिता प्रभुनाथ पासवान 32 वर्ष निवासी केशवनगर सहित स्कूटी सवार राकेश महंत पिता ननकी दाऊ महंत 35 वर्ष निवासी रेलवे स्टेशन एफसीआइ के पास बिश्रामपुर तथा हीरोहोंडा बाइक चालक मो. इब्राहिम पिता मोइनुद्दीन 20 वर्ष निवासी ग्राम दतिमा व बाइक सवार मोहम्मद इसराज आलम पिता स्व. मो. रईफा 21 वर्ष निवासी दतिमा को रोककर उनकी तलाशी ली। तलाशी के दौरान पुलिस ने स्कूटी एवं बाइक सवार चारों संदेहियों के कब्जे से नशे के लिए उपयोग में लाए जाने वाले 301 नग रेक्सोंजेसिक इंजेक्शन एवं 237 नग एविल इंजेक्शन सहित 2016 नग स्पाज्मो प्रक्सीवोन प्लस टेबलेट बरामद कर चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने नशीली दवाइयों के जखीरे के साथ गिरफ्तार चारों आरोपितों क्रमशः सन्नी पासवान, राकेश महंत, मो. इब्राहिम एवं मो. इसराज के विरुद्ध धारा 21 सी एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए नशीले इंजेक्शन के अवैध कारोबार में लिप्त स्कूटी व हीरोहौंडा बाइक की भी बरामदगी की। बरामद नशीली दवाइयों की बाजारू कीमत करीब दो लाख 35 हजार रुपये एवं नशीले इंजेक्शन के कारोबार में उपयोग में लाई जा रही स्कूटी व बाइक की कीमत एक लाख रुपये बताई गई है। कार्रवाई में बिश्रामपुर थाना प्रभारी श्री पांडेय के अलावा उप निरीक्षक विमलेश सिंह, प्रधान आरक्षक आनंद सिंह, इंद्रजीत सिंह, आरक्षक अखिलेश पांडेय, राजीव तिवारी, अजय प्रताप राव, उदय सिंह, अखिलेश पांडेय, संदीप शर्मा, रविशंकर पांडेय, महिला आरक्षक कमला सिंह, अंजली कश्यप आदि की टीम सक्रिय रही।

25 गुना अधिक में बेचते हैं इंजेक्शन-

जानकारी देते हुए थाना प्रभारी कपिलदेव पांडेय ने बताया कि आरोपितों द्वारा करीब 20 रुपए के दोनों इंजेक्शन की बिक्री नशेड़ी प्रवृत्ति के युवकों को पांच सौ रुपए में बिक्री की जाती है। उन्होंने बताया कि पूछताछ में आरोपितों द्वारा मध्यप्रदेश के कटनी से नशीले इंजेक्शन लाना बताया गया है। पुलिस आरोपितों को नशीले इंजेक्शन की आपूर्ति करने वाले कारोबारी की भी पतासाजी कर रही है।

सैकड़ों युवा नशे की चपेट में-

गौरतलब है कि कोयलांचल में सैकड़ों युवा नशे की चपेट में है। कोयलांचल में नशीले इंजेक्शन का कारोबार तेजी से फल-फूल रहा है। पुलिसिया कार्रवाई के बावजूद नशीले इंजेक्शन का कारोबार नहीं थम रहा है। बुद्धिजीवियों की मांग है कि नशीले इंजेक्शन के मामले में आरोपितों को नशीले इंजेक्शन की आपूर्ति करने वाले कारोबारियों पर भी सख्त कार्रवाई हो, ताकि नशीले इंजेक्शन के कारोबार पर रोक लग सके।

Posted By: Nai Dunia News Network