अंबिकापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रेलवे बोर्ड के निर्देश पर अंबिकापुर- जबलपुर और जबलपुर-अंबिकापुर एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन एक सप्ताह और नहीं होगा। छत्तीसगढ़ के साथ साथ मध्य प्रदेश के यात्रियों के लिए सबसे सुविधाजनक इस ट्रेन को मार्च महीने से रद किया जा रहा है। इस ट्रेन के महीनों से परिचालन बंद होने से अब यात्री अब ये सवाल करने लगे हैं कि जबलपुर एक्सप्रेस दोबारा शुरू होगी भी या नहीं। इस यात्री ट्रेन को लगातार निरस्त करने के कारण रेलवे बोर्ड को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। कारण चाहे जो भी हो लेकिन अंबिकापुर जबलपुर ट्रेन की कनेक्टिविटी दूसरी कई ट्रेनों से होने के कारण इसे चलाने की मांग लगातार हो रही है लेकिन रेलवे बोर्ड इसे लगातार निरस्त कर रहा है। यात्री सुविधाओं से वंचित सरगुजा संभाग के लोगों में इस बात को लेकर काफी नाराजगी है।

बता दें कि जबलपुर अंबिकापुर एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन 28 मार्च को 37 दिनों के लिए रोका गया था। यात्री ट्रेन के निरस्त करने की वजह कोयला का परिवहन बढ़ाने और बिजली संकट को दूर करना बताया गया था। 37 दिनों के निरस्त रहने के बाद फिर से जबलपुर ट्रेन के चलने की उम्मीद थी। एक दिन के लिए जबलपुर से ट्रेन चली भी लेकिन दूसरे दिन इसे फिर से रद कर दिया गया। तब से यह ट्रेन लगातार निरस्त होती आ रही है। इस बार जबलपुर अंबिकापुर ट्रेन को नौ से 16 जुलाई तक के लिए रद कर दिया गया है। लगातार इस ट्रेन को निरस्त करने से अंबिकापुर अनूपपुर और कटनी के बीच यात्रा करने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

चिरमिरी-बिलासपुर भी 21 जुलाई तक निरस्त-

इधर अनूपपुर और बुढ़ार के बीच तीसरी लाइन में कनेक्टिविटी का कार्य होने के कारण दर्जन भर से अधिक ट्रेनों को रद किया गया है जो बिलासपुर-कटनी लाइन में चलती हैं। इसमें चिरमिरी बिलासपुर ट्रेन भी शामिल है। यह ट्रेन आज से 21 जुलाई तक बंद रहेगी। बहरहाल इस ट्रेन को रद कर देने से कोरिया जिले के यात्री परेशानी में आ गए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close