अंबिकापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ठेका अवधि समाप्त होने और नियमों के विपरीत पाकिर्ग शुल्क लिए जाने के मामले में रेलवे प्रशासन ने पाकिर्ग ठेकेदार मुकेश खटिक पर दस हजार का जुर्माना लगाया है। सात दिवस के भीतर जुर्माना की राशि अदा करने के साथ भविष्य में ऐसी चूक नहीं करने की सख्त चेतावनी दी गई है। यह पहली बार है जब अंबिकापुर रेलवे स्टेशन के पाकिर्ग ठेकेदार के खिलाफ सामने आई शिकायत पर रेलवे प्रशासन ने जुर्माना लगाया है। दरअसल अंबिकापुर रेलवे स्टेशन का पाकिर्ग ठेका 31 अक्टूबर 2021 को समाप्त हो गया था। उसके बाद भी ठेकेदार द्वारा स्थानीय सहयोगियों के माध्यम से पाकिर्ग शुल्क वसूल किया जा रहा था। पाकिर्ग स्टैंड में वाहन खड़ा नहीं करने के बावजूद शुल्क वसूली गुंडागर्दी कर की जा रही थी। पाकिर्ग ठेकेदार की मनमानी के खिलाफ इस बार शहरवासी उद्वेलित हुए थे। पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव के साथ जनप्रतिनिधियों ने कार्रवाई की मांग रखी थी। रेलवे प्रशासन के साथ स्थानीय पुलिस से भी शिकायत की गई थी। जनशिकायतों को गंभीरता से लेते हुए वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक सुस्कर विपुल विलास राव ने पाकिर्ग ठेकेदार पर दस हजार का जुर्माना अधिरोपित किया है।

रेलवे ने दिखाई है दरियादिली

पाकिर्ग ठेकेदार द्वारा हर वाहनों से बीस रुपये वसूल किया जाता था जबकि समय के हिसाब से तीन रुपये से शुल्क निर्धारित है। ठेकेदार द्वारा न सिर्फ 16 दिनों तक नियम विरुद्ध वसूली की गई बल्कि सभी वाहनों से ज्यादा शुल्क लिया जाना भी प्रमाणित हुआ था इसके बावजूद रेलवे द्वारा सिर्फ दस हजार का रुपये का जुर्माना लगाया गया और शिकायतों के बावजूद ठेकेदार का पाकिर्ग ठेका एक महीने के लिए भी बढ़ा दिया है।

इन कारणों से लगाया जुर्माना

रेलवे द्वारा जुर्माना लगाने संबधी लिखित आदेश जारी किया गया है जिसमें ओवर चाजिर्ग, स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में शुल्क वसूली के अलावा यात्रियों के साथ पाकिर्ग स्टाफ के कर्मचारियों द्वारा दुर्व्यवहार किए जाने का आरोप लगाया गया है। कोटेशन अवधि समाप्त होने के बाद यानी 31 अक्टूबर 2021 के बाद पाकिर्ग स्टैंड का अनधि-त संचालन किए जाने पर जुर्माना लगाया गया है। भविष्य में इस तरह की गतिविधियों को न दोहराने के सख्त निर्देश दिए हैं।

पुलिस ने दर्ज किया है एफआइआर

रेलवे स्टेशन में पाकिर्ग शुल्क के नाम पर मनमाना वसूली की प्रमाणित शिकायतों के आधार पर पुलिस ने पाकिर्ग ठेकेदार मुकेश खटिक, स्थानीय सहयोगी मजहर खान सहित अन्य के खिलाफ गैर जमानती धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया है। आरोपितों की खोजबीन भी की जा रही है। अभी ये दोनों आरोपित पुलिस की पकड़ से बाहर है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close