बलरामपुर (नईदुनिया न्यूज)। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से जिला अस्पताल का दर्जा मिलने के बावजूद कई सालों तक रेफरल सेंटर के रूप में काम करने वाला बलरामपुर का जिला अस्पताल आज प्रदेश के सर्वोत्कृष्ट जिला अस्पताल की श्रेणी में आकर खड़ा हो गया है। पिछले दो वषोर् में यहां न सिर्फ सुविधाओं का विस्तार हुआ बल्कि शासन की मंशा के अनुरूप मरीजों को बेहतर स्वास्थ सुविधाएं उपलब्ध कराने में भी अस्पताल सफल रहा।

कायाकल्प स्वच्छ अस्पताल योजना वर्ष 2020-21 के अंतर्गत बलरामपुर जिला चिकित्सालय को 89.1 प्रतिशत अंकों के साथ पहला स्थान मिला है। वर्ष 2012 में जब बलरामपुर जिला अस्तित्व में आया तो यहां के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को ही जिला अस्पताल का दर्जा दे दिया गया था। न तो विशेषज्ञ चिकित्सक थे और न ही जिला अस्पताल के अनुरूप सुविधाएं भी उपलब्ध कराई गई थी। शुरुआती वषोर् में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ही जिला अस्पताल का संचालन होता रहा। जिलेवासियों के लिए बेहतर स्वास्थ सुविधा एक सपना के समान था। जिला चिकित्सालय नगर के पुराने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रारंभ हुआ। जहां सीमित संसाधन यहां तक कि एमबीबीएस डक्टर भी यहां मुश्किल से मिलते थे। यहां का जिला चिकित्सालय रेफर सेंटर के रूप में स्थापित हो चुका था। इसी दौरान 2015 में नए जिला चिकित्सालय भवन का निर्माण हुआ, जिसके बाद से धीरे धीरे लगातार लगातार सुविधा बढ़ती गई। आज यहां यह स्थिति है कि पहले जिला चिकित्सालय एमबीबीएस डाक्टर के लिए तरसता था वही आज 24 एमबीबीएस , दस विशेषज्ञ और छह सर्जन पदस्थ है। यहां डीएमएफ से स्वास्थ सुविधाओं में वृद्धि की गई। कायाकल्प स्वच्छ अस्पताल योजना में बलरामपुर जिला अस्पताल ने प्रदेश के दूसरे जिला अस्पतालों को पीछे छोड़ दिया। इस बड़ी उपलब्धि पर विधायक बृहस्पत सिंह और कलेक्टर कुंदन कुमार ने सभी चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मचारियों को बधाई देते हुए भविष्य में भी इस उपलब्धि को बरकरार रखने प्रेरित किया है।

यह सुविधाएं हैं उपलब्ध-

बलरामपुर जिला चिकित्सालय में डायलिसिस का लाभ लोगों को मिल रहा है।इसकी एक यूनिट और बढ़ाई जा रही है। आक्सीजन प्लांट की भी स्थापना हो गई है। सीटी स्कैन की सुविधा उपलब्ध कराने का भी प्रावधान है। सोनोग्राफी मशीन, डिजिटल एक्सरे मशीन, ब्लड बैंक की भी स्थापना की जा चुकी है। यहां सभी प्रकार की सर्जरी भी हो रही है।

एडवांस लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस भी उपलब्ध-

जिला चिकित्सालय में एडवांस लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस भी है। करीब 55 लाख रुपए लागत से खरीदी की गई थी। यह जिले के लिए बड़ी उपलब्धि है। कभी भी आपातकालीन स्थिति में यह एंबुलेंस वरदान साबित होती है। सुरक्षा की दृष्टि से अस्पताल परिसर में पुलिस चौकी भी स्थापित की गई है। यहां 24 घंटे पुलिस अधिकारी रहते हैं।

एक माह में 80 से अधिक हो रहे हैं आपरेशन-

जिला चिकित्सालय में पहले जहां आपरेशन एक सपने के समान होता था। अब यहां हर माह 80 से अधिक विभिन्न प्रकार के आपरेशन हो रहे हैं। हड्डी से संबंधित आपरेशन, हार्निया, सिजेरियन डिलीवरी, मोतियाबिंद सहित अन्य प्रकार के 80 से अधिक आपरेशन किए जाते हैं।

विधायक ने कहा -बड़ी उपलब्धि

फोटो 12-बृहस्पत सिंह

विधायक बृहस्पत सिंह ने जिले के स्वास्थ्य कर्मियों को बधाई देते हुए कहा कि यह हम सबके लिए बड़ी उपलब्धि है। हमारा जिला चिकित्सालय कायाकल्प स्वच्छ अस्पताल योजना वर्ष 2020-21 में प्रथम स्थान प्राप्त किया। उन्होंने कहा कि हम लगातार यहां स्वास्थ्य सुविधा बढ़ाने के लिए कार्य कर रहे हैं। खनिज न्याय मद से सीटी स्कैन मशीन एवं दस बेड आईसीयू का भी प्रावधान हम लोगों ने किया है। अन्य प्रकार की सुविधाएं भी जल्द बढ़ाई जाएंगी। हमारा प्रयास है कि हमारे जिले के लोग को ऐसी सुविधा मिलेगी कि उन्हें इलाज के लिए दूसरे शहरों तक न जाना पड़े। सिंह ने बताया कि जिले के सभी विकास खंडों में आदिवासी विकास परियोजना मद से एक एंबुलेंस भी प्रदान किया गया है।

उपलब्धि को बरकरार रखना है हम सभी को-कलेक्टर

फोटो 13-कुंदन कुमार

कलेक्टर कुंदन कुमार ने भी जिले के स्वास्थ्य कर्मियों को बधाई देते हुए कहा कि यह जिले के लिए बड़ी उपलब्धि है। हम लोग लगातार प्रयास कर रहे हैं कि जिलेवासियों को और बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधा दे सके। सभी के समन्वित प्रयासों से यह उपलब्धि हासिल हुई है इसे हमें बरकरार रखना है। स्वास्थ्य सुविधाओं में वृद्धि लगातार हो रही है।स्थानीय स्तर पर ही लोगों को त्वरित जांच व उपचार की सुविधा मिल रही है। डीएमएफ से भी स्वास्थ्य सुविधाओं में वृद्धि की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local