0 न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी के निर्देश पर पुलिस की कार्रवाई

अंबिकापुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

न्यायालय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने फर्जी ऋण पुस्तिका से जमानत के मामले में बलरामपुर जिले के ग्राम बेलसर थाना शंकरगढ़ की चंद्रमनिया के विरूद्घ मामला कायम किया है। घटना एक फरवरी 2018 की है। न्यायालय में लंबित एक अपराध के आधा दर्जन अभियुक्तों को जमानत का लाभ दिलाने के उद्देश्य से उक्त महिला के द्वारा फर्जी ऋण पुस्तिका पेश किया गया था। पुलिस ने उक्त महिला के विरूद्घ

न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी अंबिकापुर अदिति ठाकुर के न्यायालय में मुन्ना गिरी, संजय गिरी, कपिल गिरी सभी पिता बाभन गिरी, अशोक गिरी, राजेश गिरी द्वय पिता रतन गिरी, सूरज पिता कलम गिरी सभी निवासी ग्राम केपी थाना धौरपुर तहसील लुंड्रा, जिला सरगुजा के विरूद्घ अपराध क्रमांक 58/2017, अपराधिक प्रकरण क्रमांक 132/2018 का अपराध लंबित है। अभियुक्तों के जमानत के लिए चंद्रमनिया पिता परब साय उम्र 43 वर्ष निवासी ग्राम बेलसर थाना शंकरगढ़ जिला बलरामपुर द्वारा ऋण पुस्तिका प्रस्तुत किया गया था, जो जांच हेतु तहसीलदार शंकरगढ़ के कार्यालय में भेजा गया। जांच रिपोर्ट में जमानतदार चंद्रमनिया द्वारा फर्जी जमानत पेश करने की जानकारी दी गई थी। ऐसे में न्यायालय की ओर से निर्देशित किया गया था कि उक्त जमानतदार के विरूद्घ फर्जी जमानत पेश करने के संबंध में एफआईआर दर्ज कर 15 दिवस के भीतर कार्रवाई से इस न्यायालय को सूचित किया जाए। पुलिस ने मामले में जमानतदार चंद्रमनिया के द्वारा अभियुक्तों की जमानत के लिए न्यायालय में पेश की गई ऋण पुस्तिका को फर्जी पाने पर धारा 420, 467, 468, 471, 120बी, 192, 193 भादसं का मामला कायम किया है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket