उदयपुर(नईदुनिया न्यूज)। सरगुजा जिले के उदयपुर जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत चैनपुर सरपंच को छह माह बाद भी प्रभार नहीं दिए जाने से क्षेत्र में विकास व निर्माण कार्य बाधित हो गए हैं। शासकीय योजनाओं का क्रियान्वयन भी सही तरीके से नहीं हो पा रहा है। जनपद सीईओ को भी वस्तुस्थिति की जानकारी है, लेकिन अभी तक सरपंच को पदभार दिलाने कोई प्रयास नहीं किए जाने से ग्रामीणों में नाराजगी है।

ग्राम पंचायत चैनपुर सरपंच इंद्रावती सिंह को पूर्व सरपंच बृजभान सिंह व सचिव शारदा सिंह द्वारा पदभार दिलाने पहल नहीं किए जाने से नाराज ग्रामीणों ने 26 मई को बैठक किया था। इसमें सरपंच के साथ सभी पंच मौजूद थे। सर्वसम्मति से सरपंच को तत्काल प्रभार देने का प्रस्ताव पारित कर आवेदन जनपद सीईओ को सौंपा गया। बावजूद सीईओ ने सरपंच को प्रभार दिलाने पहल नहीं की। पंचों और ग्रामीणों को संदेह है कि चैनपुर में विकास व निर्माण के नाम पर भ्रष्टाचार किया गया है। जांच व कार्रवाई के भय से पूर्व सरपंच द्वारा प्रभार नहीं दिया जा रहा है। वहीं सचिव द्वारा भी पूर्व सरपंच का साथ दिया जा रहा है। सरपंच को प्रभार नहीं मिलने से क्षेत्र में कोई कार्य नहीं हो पा रहा है। शासकीय योजनाओं से पात्र हितग्राहियों को लाभांवित करने में भी परेशानी हो रही है। चुनाव हुए छह माह बीत चुके हैं, लेकिन अभी तक ग्राम सभा की बैठक कर रोजगार अथवा पंचायत क्षेत्र में शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर प्रस्ताव भी पारित नहीं हो पा रहे हैं। मामले में जनपद सीईओ पारस पैकरा का कहना है कि सचिव को दो-तीन बार नोटिस जारी किया जा चुका है, लेकिन कोई संतोषप्रद जवाब नहीं मिल पाया है। किन कारणों से सरपंच को प्रभार नहीं मिल पा रहा है, इसकी जांच कराई जाएगी। पूरे मामले में जनपद स्तर के अधिकारियों की भूमिका को भी संदिग्ध माना जा रहा है। जिसे गांव वालों ने सरपंच निर्वाचित किया अब वह कार्यभार ग्रहण करने अधिकारियों के चक्कर लगा रही है। ग्रामीणों की नाराजगी इसको लेकर है कि सचिव पंचायत क्षेत्र के प्रति जिम्मेदारीपूर्वक काम नहीं कर रहे हैं। उन्हें पता है कि पंचायत में नई सरपंच निर्वाचित हुईं हैं, बावजूद सचिव न तो सरपंच से समन्वय बनाकर कार्य के प्रति सजग नजर आ रहे हैं। गांव वालों ने सचिव को हटाने की मांग करते हुए सरपंच को पदभार दिलाने की मांग की है। नवनिर्वाचित सरपंच और पंचों के अलावा गांव वालों ने पिछले पंचवर्षीय कार्यकाल में पंचायत क्षेत्र में कराए गए कार्यो का भौतिक सत्यापन और दस्तावेजों की जांच कराने की मांग की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना