अंबिकापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कर्फ्यू के दौरान पुलिस अधिकारियों के निर्देश पर कोरोना वायरस को हराने झोंकी गई ताकत के फलस्वरूप पेट्रोलिंग में निकलने वाली पुलिस भले सख्त नजर आती हो, पर इंसानी दर्द को अपने कर्तव्य निर्वहन के दौरान वे काफी करीब से महसूस करते हैं। ऐसा ही कुछ परिदृश्य गुरूवार को कोतवाली की के-टू पेट्रोलिंग पार्टी के समक्ष आया। कर्फ्यू के बीच होटलों, ठेलों के बंद रहने से हाथ-बांह समेटे भूखे भिक्षाटन करने वालों पर पुलिस की नजर पड़ी और वे दाना-पानी के लिए मोहताज ऐसे बेवश लोगों के सामने पानी का बोतल और फल लेकर पहुंच गए, ताकि उन्हें कुछ राहत मिले। दरअसल के-टू प्रभारी धनंजय पाठक के साथ पुलिस टीम शहर के प्रमुख मार्गों पर कर्फ्यू का पालन कराने निकली थी। इस दौरान भूख-प्यास से व्याकुल, मंदबुद्घि वाले लोगों पर इनकी नजर पड़ी और वे इनके करीब पहुंच गए। एक ने इशारे में पानी मांगा तो एएसआइ पाठक ने पुलिस आरक्षक विवेक राय, संतोष पाठक व पॉयलट शिव से तत्काल पानी की व्यवस्था कराया और इन्हें पैक पानी का बोतल पकड़ा दिया। पानी हाथ लगते ही इनके चेहरे की रौनक बढ़ गई। इन्हें भूख से व्याकुल देख के-टू प्रभारी ने कलाकेंद्र मैदान में लगे ठेलों से फल मंगाकर इन्हें खिलाया, जिससे इन्हें कुछ राहत मिली। पुलिस ने कर्फ्यू की सख्ती के बीच फुटपाथ में भूखे-प्यासे एक-एक पल काट रहे लोगों के प्रति जिस प्रकार की सहृदयता दिखाई, उसकी सब्जी लेने के लिए कलाकेंद्र मैदान की ओर जा रहे लोगों ने सराहना की। इस दौरान पुलिस ने आमजनों से आग्रह किया कि देश के प्रधानमंत्री के साथ शासन और प्रशासन के द्वारा कोरोना वायरस को जड़ से मिटाने के लिए किए गए लॉकडाउन की बंदिशों का पालन करें ताकि जनमानस में कोरोना को लेकर बने भय से मुक्ति मिल सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket