अंबिकापुर। Surguja News: शहर से लगे पांच गांव को जोड़ने वाली महज चार किलोमीटर सड़क की लोक निर्माण विभाग वर्षों से उपेक्षा कर रहा है। नगर से लगे बड़े पंचायतों में शामिल खैरबार, गंझाडांड़, मलगवां, रामनगर, बांसा को जोड़ने वाली एकमात्र सड़क लोक निर्माण विभाग के अधीन है। यह सिंगल लेन सड़क की मरम्मत तक लोक निर्माण विभाग कराना नहीं चाहता। लगभग 20 हजार आबादी को भारी परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। इनमें बड़ी संख्या में किसान आवागमन करते हैं, जिन्हें अपनी उपज लेकर हर रोज शहर आना पड़ता है। शहर के आसपास लोक निर्माण विभाग की यह एकमात्र सड़क है, किंतु वर्षों से उपेक्षित रही है।

गौरतलब है कि अंबिकापुर शहर से पूर्व दिशा की ओर घुटरापारा होते हुए खैरवार बांकी डैम रोड की सड़क है। चांदनी चौक रिंग रोड से निकलने वाली यह सड़क महामाया मंदिर की ओर जाती है। राजपूत होटल से ग्राम पंचायत की सीमा शुरू हो जाती है। खैरवार ग्राम पंचायत में प्रवेश करते ही लोक निर्माण विभाग की खस्ताहाल सड़क लोगों को रुलाने लगती है। इस सिंगल लेन सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे बने हुए हैं। सड़क टूट गई है। गिट्टियां सड़क पर बिखरी हुई हैं। साइड शोल्डर पूरी तरह ध्वस्त है।

जगह-जगह कटाव के कारण भारी वाहन या चार पहिया वाहन के आने पर दुपहिया सवारों को साइड लेना भी मुश्किल हो जाता है। हर रोज दुर्घटनाएं भी हो रही हैं। वो तो भला हो खैरबार पंचायत के जनप्रतिनिधियों का जिन्होंने सड़क के दोनों हिस्से पर लैंटाना की घनी झाड़ियों को कटवा दिया है, वरना हर रोज यहां दुर्घटना के शिकार लोग हो रहे थे। वर्षों से सड़क को 50 से 60 फीट चौड़ी करने की मांग की जा रही है किंतु यह मांग पूरी नहीं हो रही। बीच-बीच में जरूर गड्ढों को पाटने के लिए विभाग ने गिट्टी और मिट्टी डालकर पैबंद लगाने की कोशिश की है। महज चार किलोमीटर सड़क की अनदेखी समझ से परे है।

करीब 20 हजार लोग करते हैं आना जाना

इस मार्ग से होकर न सिर्फ खैरबार पंचायत के ग्रामीण बल्कि इसी मार्ग से होकर लुंड्रा विकासखंड के ग्राम पंचायत गंझाडाड़, ग्राम पंचायत बांसा, मलगवां, रामनगर के लोगों का भी आवागमन होता है। करीब 20 हजार लोगों के आने-जाने का यही एकमात्र नजदीकी मार्ग है किंतु इसकी दुर्दशा होने से लोगों खासे नाराज हैं। लोगों ने जल्द से जल्द सड़क के चौड़ीकरण की मांग की है।

ग्रामीणों ने कहा -कराएं 50 फीट चौड़ी सड़क का निर्माण

खैरबार पंचायत के ग्रामीणों ने इस सड़क की मांग को आगे बढ़ा दिया है। सड़क चौड़ीकरण की पहल किए जाने लोक निवारण मंत्री ताम्रध्वज साहू के साथ प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंह से भी मांग की है। ग्रामीणों ने कहा है कि जानबूझकर इस सड़क की अनदेखी की जा रही है। ग्रामीणों का कहना है कि यदि सड़क का निर्माण नहीं हुआ तो कभी भी सड़क पर उतर कर आंदोलन करने मजबूर होंगे। खैरबार पंचायत के ग्रामीणों का कहना है कि इस पुरानी लोक निर्माण विभाग की सड़क का चौड़ीकरण होनी चाहिए।

सड़क पर अतिक्रमण, विभाग मौन

इस सड़क के दोनो हिस्से पर लोग अतिक्रमण कर मकान और दुकान बना चुके हैं। जितने भी मकान है जो शासकीय भूमि पर अवैध तरीके से बने हैं उन अतिक्रमण को हटा कर सड़क चौड़ीकरण कराया जाना चाहिए। हाल ही में एक बाहरी व्यक्ति ने सड़क पर कब्जा जमा लिया था।इसकी शिकायत कलेक्टर से हुई तब जाकर विभाग के एक एसडीओ पहुँचे और अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई कराई।

पंचायत व स्वाथ्य मंत्री का गोद ग्राम है खैरबार

यह सड़क खैरबार पंचायत से होकर गुजरती है। यह प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव का गोद ग्राम है। पूरी सड़क इसी गांव से जुड़ी है। इसी से आगे अन्य गांव की ओर लोगों का आना जाना होता है। पंचायत मंत्री के निर्देश के बावजूद विभाग ने मरम्मत व चौड़ीकरण की पहल नहीं कर रहा है। नगर के घुटरापारा से खैरबार बांकी डेम से पहले तक यह सड़क जर्जर है।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस