अंबिकापुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

शह और मात के खेल शतरंज के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय स्तर तक शहर का नाम रौशन हुआ है। यूनाइटेड शतरंज संघ के द्वारा किशोरों और युवाओं को शतरंज खेल से जोड़ने के लिए बेहतर प्रयास किए जा रहे हैं। महाराजा एमएस सिंहदेव स्मृति राज्य स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता के मौके पर मुख्य अतिथि की आसंदी से महापौर डॉ.अजय तिर्की ने उक्त उद्यार व्यक्त किए। उन्होंने कहा इस खेल के विकास के लिए जिले में मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा किया जाएगा।

शुभारंभ के मौके पर विशिष्ट अतिथि के रूप में निगम के सभापति शफी अहमद व बालकृष्ण पाठक उपस्थित थे। प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों से 45 खिलाड़ी शामिल हुए हैं। शफी अहमद ने कहा कि शतरंज एक जटिल खेल है जिसे छत्तीसगढ़ के खिलाड़ी बड़े शौक से खेलते हैं, जो निश्चित रूप से उनके जुझारूपन को दर्शाता है। उन्होंने जिले एवं प्रदेश में शतरंज के विकास के लिए निरंतर सहयोग करने की बात कही। साथ ही भविष्य में सरगुजा में राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के आयोजन हेतु प्रयासरत रहने का आश्वासन दिया। बालकृष्ण पाठक ने खिलाड़ियों से आग्रह किया कि खेल के प्रति अधिकाधिक लोगों का रुझान हो, इसके लिए प्रयास की जरूरत है। प्रतियोगिता में शामिल 45 खिलाड़ियों में 25 से अधिक राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय पर वरीयता प्राप्त खिलाड़ी हैं। प्रतियोगिता 3 दिनों तक चलेगी। उद्घाटन के बाद प्रतियोगिता का प्रथम चक्र खेला गया, जिसमें प्रमुख रुप से विजयी खिलाड़ियों में एस धनंजय, दीपक राजपूत, देवव्रत तिवारी, पूजा बघेल, रमेश कुमार मिश्रा, दीपांकर सेनगुप्ता, पीएल शास्त्री, पीएन राव, राहुल शर्मा शामिल हैं। प्रतियोगिता का संचालन फीडे आर्बिटर गिरधर देशमुख और रोहित यादव कर रहे हैं। इस अवसर पर यूनाइटेड शतरंज संघ के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह राणा के अलावा एसपी वर्मा, शेषरतन जयसवाल, विश्वनाथ मनियन, विश्वास तिवारी, श्रीराम पांडे, निलेश सिन्हा, एसके वैष्णव सहित अन्य खिलाड़ी व गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network