अंबिकापुर। चक्रवाती तूफान जवाद का असर उत्तरी छत्तीसगढ़ में समाप्त होते ही एक बार फिर से ठंड की वापसी ही गई। आसमान में बादल हटने और ठंडी हवा चलने से तापमान में दो डिग्री की गिरावट हुई है। संभाग मुख्यालय अंबिकापुरज में न्यूनतम तापमान 15.6 डिग्री से 13.5 पर पहुंच गया। मंगलवार सुबह की शुरुआत कोहरे से हुई। शहर सहित आसपास के इलाके में घना कोहरा छाया रहा। वातावरण के ऊपरी हिस्से में भी नमी और धुंध के कारण धूप देर से निकली। मौसम विभाग ने 24 घंटे बाद ठंड में और वृद्धि की संभावना जताई है।

दिसंबर के पहले हफ्ते में जब ठंड के तीखे तेवर से लोग सिहर उठते हैं उस समय मौसम में हुए उलटफेर से तापमान उतना नहीं गिर पाया। अम्बिकापुर में एक दो दिन ही न्यूनतम तापमान 10 से नीचे पहुंचा। ग्रामीण क्षेत्र में धान मिजाई में जुटे लोग ठंड से बचने लोग गर्म कपड़ों के साथ अलाव का सहारा ले रहे है। वहीं अंबिकापुर शहर में नगर निगम ने अब तक बाहर से आने वाले यात्रियों व बेघर लोगों को ठंड से बचने के लिए अलाव की कोई व्यवस्था नहीं की है।

इसके चलते रात में बाहर से आने वाले लोगों को परेशानी हो रही है। जनप्रतिनिधियों ने नगर निगम आयुक्त से अलाव की व्यवस्था जल्द शुरू किए जाने की मांग की है। मौसम विज्ञानी एएम भट्ट के अनुसार उत्त्तरी छत्तीसगढ़ में अब पूर्वी हवा का असर कम और उत्तर-पश्चिमोत्तर दिशा से हवा का बहाव शुरू हो गया है। इसके चलते अगले एक दो दिनों में ठंड में तेजी से बढ़ोतरी हो सकती है। इस दौरान सुबह सुबह कोहरा भी गिरेगा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local