अंबिकापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नमना कला रिंग रोड स्थित बैंक आफ बड़ौदा में शनिवार-रविवार की दरम्यानी रात चोरों ने ताला तोड़कर चोरी का प्रयास किया। दो दिन के अवकाश के बाद सोमवार सुबह बैंक खोलने पहुंचे कर्मचारियों ने वहां मुख्य द्वार की शटर एवं चैनल गेट में लगा ताला टूटा हुआ देखा। चोरी की आशंका को देखते हुए बैंक प्रबंधन ने कोतवाली पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस मौके पर पहुंची और बैंक की जांच की। बैंक प्रबंधन और पुलिस के अनुसार चोर यहां से कैश या कोई अन्य चीज नहीं ले जा पाए।

कैश और अन्य कीमती सामान तिजोरी में रहता है और चोर वहां तक नहीं पहुंच पाए। पुलिस ने बैंक के भीतर लगे सीसी कैमरे का फुटेज खंगाला। इसमें कुछ सुराग हाथ लगा है। इसी के सहारे पुलिस आरोपितों का पता लगाने में जुटी है। बड़ौदा बैंक शाखा के कर्मचारी शुक्रवार देर शाम तक काम किए। इसके बाद शनिवार और रविवार बैंक बंद था। सोमवार सुबह नौ बजे के करीब जब कर्मचारी बैंक खोलने पहुंचे तो बाहर मुख्य द्वार की शटर एवं चैनल गेट में लगा चार ताला टूटा हुआ था। चोरी की आशंका को देखते हुए घ टना की जानकारी बैंक के उच्च अधिकारियों को दी गई। कोतवाली थाना प्रभारी रुपेश नारंग भी मौके पर पहुंचे। पुलिस बैंक के डीवीआर और वहां लगे कैमरे से वीडियो फुटेज की बारीकी से जांच की। थाना प्रभारी के अनुसार चोर रविवार के फुटेज में चोर नहीं नजर आए हैं। इसलिए माना जा रहा है कि शनिवार की रात ही इस घटना को अंजाम दिया गया था।

नमना कला स्थित मुख्य मार्ग में स्थित बड़ौदा बैंक में चोरी की वारदात से पुलिस पेट्रोलिंग को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। बता दें कि दो दशक पूर्व देवीगंज रोड स्थित बैंक आफ बड़ौदा की मुख्य शाखा में डकैती की बड़ी घटना हुई थी। इस बीच शनिवार रात इसी बैंक की नमनाकला स्थित शाखा में चोरी के प्रयास के बाद से यहां की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर प्रश्नचिन्ह उठना लाजमी है। बैंक प्रबंधन भी इसे लेकर लापरवाह बना रहता है। बैंक बंद होने के बाद यहां सुरक्षा के इंतजाम नहीं होने से इस तरह की वारदात होने की आशंका बनी रहती है। बैंक के आसपास असुरक्षित ढंग से दुकानें बनी हुई हैं। जहां दिन भर तरह-तरह के लोगोंे का आना-जाना लगा रहता है।

अब बड़ी वारदात की फिराक में चोर

शहर के भीतर मोटरसाइकिल, स्कूटी एवं सूने घरों मंे चोरी की वारदात आम बात हो गई है। वारदात के बाद पुलिस अपने स्तर से इसकी जांच भी करती है लेकिन ज्यादातर मामलों में आरोपितों का पता नहीं चलता। इसी का फायदा उठा चोर छोटी-मोटी वारदातों के बाद अब बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं। बंैक आफ बड़ौदा में भले ही चोरी का प्रयास किया गया लेकिन घटना को हल्के में नहीं लिया जा सकता।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close