अंबिकापुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य विभाग में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के पदों पर होने वाली भर्तियों में नई सेवा शर्तें लागू करने की तैयारी है। यदि खुली भर्ती संभागीय संवर्ग के पदों की है तो संबंधित कर्मचारियों का तबादला संभाग स्तर पर होगा। यदि जिला संवर्ग के आधार पर नियुक्ति हो रही है तो स्थानांतरण भी जिला स्तर पर ही किया जाएगा। एक बार नौकरी लग जाने के बाद अनुसूचित क्षेत्रों में सेवा देने के बजाय शहरी क्षेत्रों में पदस्थापना करा लेने की समस्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने यह निर्णय लिया है। इसके लिए प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने बताया कि अंबिकापुर मेडिकल कालेज के अलावा प्रदेश के चार मेडिकल कालेजों के लिए कई पदों पर भर्ती की अनुमति मिली है। अंबिकापुर मेडिकल कालेज के लिए भर्ती प्रक्रिया के तहत आवेदन भी मंगा लिए गए हैं लेकिन अब इसमें विलंब हो सकता है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया कि छत्तीसगढ़ के अनुसूचित क्षेत्र के 14 जिले में यदि स्थानीय युवाओं को अवसर मिलता है तो व्यवस्था में और सुधार दिखाई देगा। मानव संसाधन की कमी दूर होगी। खुली भर्ती से स्थानीय लोगों को सही तरीके से मौका नहीं मिल पाता।

बाहर के लोगों की नौकरी लग जाने पर वे स्थानांतरण करवा कर यहां से चले जाते हैं। इसीलिए स्वास्थ्य विभाग तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के पदों पर स्वास्थ्य विभाग में भर्ती के लिए नई सेवा शर्तें लागू करने की तैयारी में है। उन्होंने बताया कि संभागीय संवर्ग की खुली भर्ती में नियुक्ति पाने वालों का तबादला संभाग स्तर पर और जिला संवर्ग की नियुक्ति में नौकरी पाने वालों का जिला स्तर पर ही तबादला होगा। इस व्यवस्था से मानव संसाधन की कमी दूर हो जाएगी।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया कि अंबिकापुर मेडिकल कालेज प्रदेश का पहला ऐसा कालेज है जिसे कम समय में स्नातकोत्तर की पढ़ाई कराने का मौका मिला है। इसके लिए उन्होंने प्रबंधन को बधाई देते हुए कहा कि अब सीटों की संख्या बढ़कर लगभग 175 हो जाएगी। अभी तक हम 125 सीटों की व्यवस्था पर काम कर रहे थे लेकिन छात्रों की संख्या बढ़ने के हिसाब से नई व्यवस्था भी की जा रही है। उन्होंने बताया कि मेडिकल कालेज भवन का निर्माण 31 दिसंबर 2022 तक पूर्ण होने की संभावना है। मेडिकल कालेज अस्पताल के पांचवें तल का निर्माण भी चल रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close