बिश्रामपुर (नईदुनिया न्यूज)। कोरोना संक्रमण के कारण एसईसीएल के दो कोयला कर्मचारियों की मौत हो गई। कोरोना प्रोटोकाल का तहत दोनों मृत कोयला कर्मचारियों का अंतिम संस्कार किया गया। वहीं शनिवार को की गई कोरोना जांच में नगर के 25 लोग फिर कोरोना संक्रमित पाए गए, जबकि शुक्रवार को सूरजपुर जिले में 659 लोग कोरोना संक्रमण से ग्रसित मिले। इधर 18 वर्ष से 44 वर्ष आयु के सभी वर्ग के लोगों के प्रारंभ टीकाकरण में टीकाकरण कराने पहुंचे दर्जनों युवकों को बैरंग लौटना पड़ा।

करीब एक सप्ताह से कोरोना संक्रमण से ग्रसित नगर की वनबी कालोनी निवासी एसईसीएल की विश्रामपुर ओपन कास्ट परियोजना के एक्सवेशन वर्कशाप में पदस्थ मैकेनिकल फिटर उस्मान खान 58 वर्ष की उपचार के दौरान शनिवार को सुबह मेडिकल कालेज अंबिकापुर में मौत हो गई। वहीं कोरबा में कोरोना संक्रमण का इलाज करा रहे ग्राम रामनगर निवासी एसईसीएल की गायत्री भूमिगत परियोजना में कार्यरत इलेक्ट्रिकल हेल्पर अमृत सिंह की शुक्रवार को मौत हो गई। दोनों मृत कोयला कर्मचारियों का प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में कोरोना प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार किया गया।

70 लोग मिले कोरोना संक्रमित-

शनिवार को सूरजपुर ब्लाक में की गई कोरोना जांच में 70 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। जिसमे बिश्रामपुर में 25 समेत कन्दरई में 13, करंजी में 10, लटोरी में 12, केतका में दो, बसदेई में तीन, कमलपुर में एक मरीज कोरोना संक्रमण से ग्रसित पाया गया। नगर में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है।

वैक्सीन की कमी, बैरंग लौटना पड़ा-

नगर में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र एवं जिला चिकित्सालय सूरजपुर में शनिवार से सभी वर्ग के 18 वर्ष से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने का कार्य प्रारंभ हो गया- स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में शनिवार को बीपीएल एवं अंत्योदय कार्ड धारी 20 युवकों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई, जबकि भारी भीड़ के बावजूद उक्त आयु के अन्य वर्ग के 110 युवकों को ही कोरोना वैक्सीन लगाई जा सकी। वैक्सीन की कमी के कारण बिना टीकाकरण के बैरंग लौटे युवकों में आक्रोश दिखा।

तत्काल दें सूचना, होगी कार्रवाई-

नगर के बुद्धिजीवी वर्ग ने जिला कलेक्टर से मांग की है कि होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों की आकस्मिक जांच करा कर घरों से बाहर घूमते पाए जाने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए। नायब तहसीलदार अमित केरकेट्टा ने लोगों से अपील की है कि होम आइसोलेशन के बावजूद बाहर घूमने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों की जानकारी मिलते ही उन्हें मोबाइल के जरिए तत्काल सूचना दें। सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखते हुए प्रशासनिक गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध त्वरित कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags