अंबिकापुर। Unique Initiative: शहर के एक चिकित्सक स्वस्थ्य होने वाले मरीजों को आइवी फ्लूइड की खाली बोतलों पर तैयार पौधे उपहार स्वरूप दे कर उनके बेहतर स्वास्थ्य की कामना कर रहे हैं। इसकी शुरुवात विजयादशमी पर्व के दिन की गई। छह वर्ष के बालक को उनके परिजनों की मौजूदगी में पौधे प्रदान कर चिकित्सक ने इसकी शुरुआत की।

हरियाली के प्रति लोगों को जागरूक करने की कोशिश हर स्तर पर हो रही है। पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधरोपण से भी लोगों को जोड़ा जा रहा है, लेकिन अंबिकापुर के यूरोलोजिस्ट डॉ योगेंद्र सिंह गहरवार द्वारा मरीजों को पौधे वितरित करने के पीछे सोच दूसरी है। डॉ.गहरवार बताते हैं कि चिकित्सक और मरीज का संबंध धीरे- धीरे जड़ें जमाता है। वृक्ष की भी यही आदत होती है। आज चिकित्सक और मरीजों के संबंधों में खटास आ रही है। वृक्ष भी धरती में कम हो रहे हैं। सभी जगह गर्म वातावरण है। इस वातावरण में उन्होंने संबंधों और धरती को हरा भरा रखने हेतु अब मरीजों को छुट्टी के समय उपहार स्वरूप पौधे देना शुरू किया है।

यह पौधे कुछ खास हैं क्योंकि इन्हें आइवी फ्लूइड की बोतल में उगाया गया है। इन पौधों को उगाया है राजपुर ब्लॉक के ग्राम पड़निया के आधुनिक किसान और भूगर्भ शास्त्री अरविंद सिंह ने। इस अभियान की शुरुआत विजयदशमी के दिन 6 वर्षीय संतुष्ठ मरीज़ को पौधे देकर करने वाले डॉ योगेंद्र सिंह गहरवार का कहना है कि रिश्तों और धरती में शीतलता बनी रहे। वृक्ष और संबंध जड़े जमाते रहे इसी उद्देश्य के साथ उन्होंने पौधे वितरण करना शुरू किया है। इस अभियान का दूसरा लाभ भी है। मरीजों के उपयोग में लाए जाने वाले आइवी फ्लूइड बोतल के निपटान में भी यह तकनीक लाभकारी है। ये प्लास्टिक की बोतल पर्यावरण सरंक्षण और हरियाली में भी मदद कर रही है।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस