अंबिकापुर। सरगुज़ा जिले के मैनपाट में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल में प्रवेश के लिए लाटरी निकलवाने पहुंची अपर कलेक्टर अचानक भड़क गई और शिक्षकों के लिए आपत्तिजनक शब्दो का प्रयोग किया।यह जब इंटरनेट मीडिया में प्रसारित हुआ तो जमकर किरकिरी हुई। यहां लाटरी के दौरान मैनपाट के कुछ जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे पर किसी ने कुछ नहीं बोला।इसको लेकर भी लोग नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं।

हालांकि कलेक्टर के निर्देश पर यहां प्रवेश के लिए निकाली गई लाटरी को निरस्त कर दी गई है। अब सोमवार को सरगुजा जिले के वरिष्ठ अपर कलेक्टर अमृतलाल ध्रुव की मौजूदगी में नए सिरे से प्रवेश के लिए लाटरी निकाली जाएगी। बताया जा रहा है महिला पर कलेक्टर ने किसी बच्चे का दो बार नाम पढ़े जाने पर आपत्ति जताते हुए एक सूची भी बेहतर नहीं बना सकते कह कर नाराजगी जताई थी और दस्तावेज लेकर अपने दफ्तर बुलाया था।बुधवार को स्कूल के प्राचार्य और शिक्षक अपर कलेक्टर के पास सभी दस्तावेज लेकर पहुंचे थे। दस्तावेजों की जांच की गई।अब नए सिरे से लाटरी निकालकर चयन किया जाएगा। इधर कलेक्टर संजीव कुमार झा ने सोमवार को नए सिरे से लाटरी निकालने जिले के वरिष्ठ अपर कलेक्टर अमृतलाल ध्रु को जिम्मेदारी सौंपी है।

बता दें,मैनपाट के स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी स्कूल में कक्षा पहली में प्रवेश के लिए 165 आवेदन आए थे। गौरतलब है कि सरगुजा जिले में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल में प्रवेश के लिए मारामारी मची है। बड़ी संख्या में आवेदन आए हैं। ऐसे में लाटरी पद्धति से बच्चों को प्रवेश मिल रहा है। सभी जगह पारदर्शिता पूर्ण तरीके से प्रवेश के लिए लाटरी निकाले जाने की प्रक्रिया पूर्ण हो रही है किंतु मैनपाट में कोई छोटी सी गड़बड़ी और अपर कलेक्टर के व्यवहार ने पूरी प्रक्रिया को विवादों में ला दिया है।स्थिति यह बनी कि कलेक्टर ने दूसरे अपर कलेक्टर को लाटरी निकालने जिम्मेदारी सौंप दी है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close