बलरामपुर (नईदुनिया न्यूज)। वन विभाग की योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक में सदस्यों के साथ चर्चा के लिए आमंत्रित किए जाने के बावजूद डीएफओ के उपस्थित नहीं होने और प्रतिनिधि भेजने पर सदस्यों ने कड़ी नाराजगी जताई है। डीएफओ बलरामपुर लक्ष्मण सिंह के खिलाफ सामान्य सभा की बैठक में निंदा प्रस्ताव पारित कर वन विभाग की योजनाओं के क्रियान्वयन की विस्तृत समीक्षा करने का निर्णय लिया गया है।

जिला पंचायत बलरामपुर की समान्य सभा की बैठक जिला पंचायत अध्यक्ष निशा सिंह नेताम की अध्यक्षता व जिला पंचायत सीईओ हरीश एस की उपस्थिति में आयोजित की गई थी। पूर्व के सामान्य सभा की बैठक में वनमण्डलाधिकारी बलरामपुर को व्यक्तिगत रूप से बैठक में उपस्थित होने हेतु सभा द्वारा निर्देशित किया गया था। किन्तु वनमण्डलाधिकारी द्वारा बैठक से अनुपस्थित रहकर पुनः प्रतिनिधि भेजे जाने पर जिला पंचायत के सदस्यों द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त की गई। सदस्यों ने कहा कि यह गलत परंपरा की शुरुवात हो रही है। वनमण्डलाधिकारी लक्ष्मण सिंह को व्यक्तिगत रूप से बैठक में उपस्थित होने के सूचना देने के पश्चात भी बैठक में नहीं आने पर उनके विरूद्ध सामान्य सभा द्वारा निंदा प्रस्ताव पारित किया गया। बताते चले कि जिला पंचायत बलरामपुर में भाजपा समर्थित सदस्यों की संख्या अधिक है। राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम की पुत्री निशा नेताम यहां जिला पंचायत की अध्यक्ष है। बैठक में सदस्यों ने उपस्थित अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र की समस्याओं से अवगत कराते हुए निराकरण करने की मांग की। बैठक में लगातार अनुपस्थित रहने पर वनमण्डलाधिकारी के विरूद्ध सभा द्वारा निंदा प्रस्ताव पारित किया गया। बैठक में धान खरीदी और रबी सीजन के लिए उर्वरक की उपलब्धता पर चर्चा हुई। उप संचालक कृषि अजय अनंत ने सदस्यों को जानकारी दी कि जिले में अब तक गोधन न्याय योजना के तहत 30 हजार क्विंटल गोबर की खरीदी हो चुकी है तथा वर्तमान में 378 क्विंटल वर्मी कम्पोस्ट बनाया जा चुका है। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हरीश एस ने सभी जनप्रतिनिधियों से क्षेत्र में कृषकों को जैविक खेती हेतु प्रोत्साहित कर वर्मी कम्पोस्ट खाद का ही उपयोग करने को कहा। सदस्य पुष्पा नेताम ने रबी फसल के लिए खाद भण्डारण के बारे में जानकारी चाही। उन्होंने कामेश्वरनगर तथा सनावल सोसायटी में खाद उपलब्ध नहीं होने की जानकारी दी। उप संचालक कृषि ने जानकारी दी कि जिले के सभी सोसायटियों में पर्याप्त मात्रा में रासायनिक खाद का भण्डारण हो चुका है। इसी प्रकार बैठक में श्रम विभाग तथा मत्स्य पालन विभाग द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं एवं उद्योग विभाग के अधिकारी द्वारा छत्तीसगढ़ शासन द्वारा संचालित नई उद्योग नीति और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा जल जीवन मिशन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस