बालोद ।बालोद जिले के जल संसाधन विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। पूरे मामले में बालोद कांग्रेस शहर अध्यक्ष व नपा उपाध्यक्ष ने भी जिले के जल संसाधन विभाग के ईई पर घोर लापरवाही का आरोप लगाते हुए बताया कि उनके बड़े भाई दिलीप कुमार यादव जिनका निधन 14 नवंबर को हुआ था, जिसके बाद अनिल यादव ने मृत्यु प्रमाण पत्र 15 नवंबर को जल संसाधन विभाग में जमा भी करवा दिया था लेकिन 24 नवंबर तक विभाग द्वारा मृतक परिवार को एक्सग्रेसिया राशि नहीं मिलने की जानकारी लेने पहुंचे तो विभाग के ईई ने पूरे मामले में अपने विभागीय लापरवाही से पल्ला झाड़ते हुए इस राशि विलंब के पीछे जिला कोषालय पर दोष मढ़ते नजर आए।

वहीं, इस मामले पर जब जिला कोषालय अधिकारी अनिल पाठक से चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि उनके कार्यालय में जल संसाधन विभाग से 22 नवंबर को फाइल और मामले की गंभीरता को देखते हुए उसी दिन राशि जारी भी कर दी गई। इस मामले को लेकर मृतक के छोटे भाई नगरपालिका उपाध्यक्ष अनिल यादव ने कहा कि विभाग के नए ईई जेके चंद्राकर के आने के बाद से विभाग में लापरवाही बढ़ चुकी है, जिसके चलते ऐसे संवेदनशील मामलों में लोगो को भटकना पड़ रहा है। वहीं, एक माह पूर्व जल संसाधन विभाग में कार्यरत चौबे बाबू का निधन हुआ था, उनके स्वजन को भी अधिकारी द्वारा एक माह तक राशि के लिए घुमाया गया, जबकि एक्सग्रेसिया की राशि को विभाग द्वारा पीड़ित परिवार को तत्काल दिया जाता है। चौबे बाबू के स्वजन को दस दिनों तक आफिस के चक्कर काटने के बाद राशि मिल पाई।

अनिल यादव ने कहा कि ऐसे अधिकारियों पर कलेक्टर द्वारा जांच कमेटी बैठाकर कड़ी से कार्रवाई करनी चाहिए। आपको बता दें कि पूरे मामले में जब अन्य विभागों से भी ऐसे मामलों की कार्रवाई की जानकारी ली गई तो सभी विभागों के अधिकारियों ने साफ कहा कि एक्सग्रेसिया की राशि विभाग द्वारा पीड़ित परिवार को तत्काल दिया जाता है, जबकि इस तरह के मामले में शासन का भी साफ आदेश है कि शासकीय सेवकों की मृत्यु उपरांत पीड़ित परिवार को अनुग्रह राशि यथाशीघ्र उपलब्ध कराएं, बावजूद इसके बालोद जल संसाधन विभाग की लापरवाही के चलते मृतक परिवार को घटना के नौ दिन बाद तक सहायता राशि नहीं मिल पाई है और जिम्मेदार अधिकारी मामले में अन्य विभाग पर दोष थोपते नजर आए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local