बालोद। नईदुनिया न्यूज

विश्व दिव्यांग दिवस पर जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिता मंगलवार को ग्राम जुंगेरा में हुआ। यहां जिले भर के दिव्यांग प्रतिभागी बधाों ने अपना हुनर दिखाया। कर्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद गांव के उपसरपंच गोस्वामी, डीईओ आरएल ठाकुर, एनएस प्राचार्य, राधेश्याम साहू, सीबी साहू, आरआर क्रद्त्त, डीआर कोसरे एवं समस्त बीआरसीसी व सीएससी ने दिव्यांग बधाों का हौसला बढ;ाते हुए कहा कि यह किसी से कम नहीं है। इनमें विलक्षण प्रतिभा छिपी रहती है जिसे सामान्य लोगों को पहचानने की जरूरत है। दिव्यांग बधो में कोई ना कोई ऐसी प्रतिभा रहती है जो कि सामान्य बधाों में भी नजर नहीं आता है ऐसे आयोजनों में ही निखर कर सामने आती है ऐसे बधाों को कम नहीं आंकना चाहिए उनका जब भी जरूरत हो जहां भी अवसर मिले उनका हौसला बढ;ाना चाहिए इस तरह के आयोजन से बधाों में हौसला अफजाई होता है और खुद को दूसरों से अलग नहीं समझते, बल्कि सामान्य बधाों की तरह खुद की प्रतिभा दिखाने में सक्षम हो जाते हैं।

कलेक्टर के प्रयास से हुआ खास आयोजन

ज्ञात हो कि हर साल की तरह इस बार भी कलेक्टर रानू साहू के विशेष प्रयास से दिव्यांग दिवस पर जिला स्तरीय आयोजन किया गया। आचार संहिता लागू होने के कारण अलग से अतिथि नहीं बुलाए गए थे। जो अधिकारी कर्मचारी और स्थानीय ग्राम पंचायत स्तर के जन प्रतिनिधि हैं उन्हीं को ही अतिथि बनाया गया था। कलेक्टर ने कहा दिव्यांग बधाों को सामान्य बधाों की तरह आगे बढ़ाने के लिए ही इस तरह के खेल का आयोजन लगातार किया जा रहा है। जिससे जिले के बाद राज्य स्तर पर भी दिव्यांग बधाों को अपना हुनर दिखाने का मौका मिलता है। जिले के कई बधो अब तक राज्य स्तर पर अपना नाम कमा चुके हैं और जिले और अपने क्षेत्र स्कूल का नाम रोशन कर चुके हैं।

ये हुए खेल स्पर्धा

दिव्यांग बधाों ने आयोजन स्थल पर 13 तरह के खेलों में अपनी प्रतिभा दिखाई। कुर्सी दौड़, 100 मीटर दौड़, 50 मीटर दौड़ प्रमुख रूप से हुआ। हर ब्लॉक से छह-छह बधाों ने हिस्सा लिया था। प्राइमरी, मिडिल, हाई व हायर सेकंडरी स्कूल से दो-दो बधो चयनित हुए थे। पांचों ब्लॉक से 50 से ज्यादा बधाों ने इस प्रतिभा प्रोत्साहन आयोजन में हिस्सा लिया और अपना लोहा मनवाया।

अतिथियों ने भी फेंका गोला

खेल के शुभारंभ अवसर पर पहुंचे अतिथियों ने भी गोला फेंक कर इसका उद्घाटन किया। इस दौरान ग्रामीणों में भी उत्साह का माहौल देखा गया। आसपास के ग्रामीण भी खेल का आनंद लेने के लिए जुटे थे, वहीं जिले भर से शिक्षक और बधो भी पहुंचे थे। मूक-बधिर, श्रवण बाधित, अस्थि बाधित सहित अन्य दिव्यांग बधाों का दर्शकों ने भी हौसला बढ़ाया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस