दल्लीराजहरा। नईदुनिया न्यूज

श्रमिक नगरी दल्लीराजहरा के नगरीय निकाय के क्षेत्रांर्गत नियोगी वार्ड में आज से लगभग 15 वर्ष पूर्व तत्कालीन नपा अध्यक्ष पुरोबी वर्मा के कार्यकाल में छग के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने शहीद शंकर गुहा नियोगी वाचनालय का उद्घाटन किया था। देखरेख के अभाव में और नगर पालिका की निष्क्रियता के चलते नियोगी वाचनालय का उपयोग नहीं हो पा रहा है। क्षेत्रवासियों एवं वार्डवासियों के बीच काफी आक्रोश व्याप्त है।

वार्ड के लोगों ने बताया कि वाचनालय के नाम पर लाखों रुपये खर्च किए गए किन्तु वाचनालय का लाभ नगरवासियों को नहीं मिल पाया है। दल्लीराजहरा के आम लोगों विद्यार्थियों और साहित्य प्रेमियों को निरूशुल्क पुस्तक किताबें उपलब्ध कराने के लिए नगर पालिका द्वारा स्थापित किया गया। एकमात्र वाचनालय देखभाल के अभाव और अव्यवस्था के चलते बेहद खराब हालत में पहुंच गया है। वहीं दूसरी ओर पुस्तक वाचन करने वाले को अच्छी सुविधा नहीं मिलने की शिकायत मिल रही है। पाठकों को पुरानी पुस्तकें पत्र-पत्रिकाएं ही पढ़ने को मिल रही है।

गौरतलब है कि दल्लीराजहरा में केंद्रीय शासन द्वारा स्थापित सेंट्रल लाइब्रेरी राजहरा में पहले से ही स्थापित था लेकिन सेंट्रल लाइब्रेरी की खराब हालत को देखते हुए नगर पालिका ने नियोगी नगर वार्ड में नियोगी वाचनालय की स्थापना किया था। जिससे पुराना बाजार के पुस्तक प्रेमियों और विद्यार्थियों को इस पुस्तकालय के अन्य स्थलों से भी बड़ी संख्या में लोग इस पुस्तकालय में पहुंचते थे और इस पुस्तकालय में रखें पत्र-पत्रिकाओं के पाठन का फायदा उठाते थे लेकिन लाइब्रेरी स्थापना के कुछ वर्ष तक ही लाइब्रेरी का संचालन सुचारू रूप से चलता रहा है। लेकिन बाद में बाकी सरकारी विभागों की तरह नगर पालिका द्वारा इस पुस्तकालय की उपेक्षा शुरू हो गई। जिसके वजह से पुस्तकालय के रख रखाव ही बंद हो गया। इस बारे में विद्यार्थियों का कहना है कि नगर पालिका द्वारा लाइब्रेरी में पुराने पुस्तक सजा कर ही पुस्तकालय को चला रहा है और सभी पुस्तकें की देखभाल भी अच्छी तरह से नहीं किए जाने से पुस्तके भी खराब और रद्दी में बदलती जा रही है। नगर पालिका से पुस्तकालय के भवन के मरम्मत की ओर भी ध्यान आकर्षित किया जा चुका है लेकिन पालिका इस ओर बिल्कुल ही ध्यान नहीं दे रहा है जिससे अब भवन भी जर्जर होने लगा है।

लोगों ने बताया कि नियोगी पुस्तकालय का मरम्मत नहीं किया जाता है तो यह भवन खण्डहर में बदल जाएगा। पुस्तकालय को बचाने के लिए पालिका को लाइब्रेरी भवन की देखभाल करनी चाहिए। इस संबंध में मुख्य नगर पालिका अधिकारी नेत राम रत्नेश ने बताया कि नियोगी वाचनालय का शासन के नियमानुसार जीर्णोद्घार कार्य किया गया है और सर्व सुविधायुक्त बनाया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket