बालोद (नईदुनिया न्यूज)। रबी फसल कटाई के बाद किसान खरीफ फसल की तैयारी को लेकर खेतों में नरई जला रहे हैं, जबकि शासन प्रशासन द्वारा नरई न जलाने के लिए किसानों को आदेशित किया था। इन दिनों ग्रामीण अंचलों में किसान धान के खेतों में कटाई के बाद बचे नरई (अवशेष) को जला रहे हैं। इससे खेतों से उठने वाले धुएं से लोगों को सांस लेने में दि-त हो रही है। एक ओर जहाँ सुप्रीम कोर्ट ने धान की नरई जलाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा रखा है। कोई किसान नरई जलाता है, तो उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराकर कार्रवाई का प्राविधान है। पिछले सीजन में नरई जलाने पर जिला प्रशासन ने काफी गंभीरता दिखाई थी, लेकिन इस बार ध्यान नहीं दिया जा रहा है। नरई जलने के धुएं से पर्यावरण प्रदूषण बढ़ रहा है।

नरई जलाने से होता है नुकसान

धान के खेत खाली करने के बाद जुताई कर दें, जिससे खाद बन सकेगी। खेत की उर्वरा शक्ति बढ़ सकेगी। जैविक खाद भी बनाई जा सकती है। नरई में आग लगाने से केवल वातावरण प्रदूषित ही नहीं होता है अपितु भूमि की ऊपरी सतह में रहने वाले जीव जंतु भी मर जाते हैं। साथ ही साथ बहुत अच्छा जीवांश पदार्थ जो कि फसल अवशेष के सड़ने से खेत को मिल सकता है उससे भी खेत एवं प्रकृति वंचित रह जाती है। इसलिए किसी भी प्रकार का फसल अवशेष खेत में नहीं जलाना चाहिए। जब हम जैविक खेती को प्रोत्साहन दे रहे हैं तब तो खेत में जीवांश पदार्थ की मात्रा बढ़ाना बहुत ही है।

---------

धूम्रपान निषेध दिवस पर नशा छोड़ने का लिया संकल्प

बालोद (नईदुनिया न्यूज)। रविवार को ग्राम पंचायत सिवनी में मितानिनों व पंचायत प्रतिनिधियों के द्वारा अंतरराष्ट्रीय धुम्रपान निषेध दिवस पर मितानिनों के साथ युवाओं ने नशा छोड़ने का संकल्प लिया। कार्यक्रम में सरपंच दानेश्वर सिन्हा, मितानिन अध्यक्ष सरिता साहू, राधा बाई, पुष्पा निषाद, रामेश्वरी, देवकी साहू, भामीन एवं देवनारायण, पुरू, रोशन, नीलकंठ, हलधर,शेखर साहू शामिल हुए।

--------

जोगी कुशल प्रशासक थे : विद्या शर्मा

बालोद (नईदुनिया न्यूज)। छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन को प्रदेश के लिए अपूरणीय क्षति बताते हुए नपा उपाध्यक्ष विद्या शर्मा ने कहा कि वह एक कुशल प्रशासक एवं प्रतिभावान व्यक्ति थे। मेरे लिए तो अविस्मरणीय क्षण है जब मैं पार्षद चुनाव लड़ी थी तो उस समयउनका लोहारा आगमन हुआ था। तब मेरी अनारक्षित सीट पर मेरी जीत से जोगी जी काफी खुश हुए थे। उन्होंने कहा था पुरुषों के बीच लड़कर विजय होना अपने आप में राजनीति में गौरव का विषय है।

------

आबकारी एक्ट के तहत तीन पर कार्रवाई

बालोद (नईदुनिया न्यूज)। बालोद थाना में शनिवार को आबकारी एक्ट के तहत तीन लोगों पर कार्रवाई की गई। जिसमें आरोपित खेलुराम आरदा पिता गौतम आरदा (32 साल) निवासी कन्नोवाड़ा के पास से 24 अद्घी, 32 पौवा कुल 14.7 बल्क लीटर देशी प्लेन शराब (कीमती 6400) जब्त किया गया। इसी प्रकार ग्राम करहीभदर निवासी आरोपित खूबलाल पिता कार्तिक राम (46 वर्ष) के पास से 18 पौवा, 2 अद्धी शराब और करहीभदर निवासी महेंद्र कुमार पिता कन्हैया लाल (25 वर्ष) के पास से 22 नग देसी प्लेन शराब (3.96 लीटर कीमत 1760 रुपये) जब्त किया गया। तीनों आरोपितों के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई में एसआइ शिशिर पांडे, एसआइ देवांगन, आर लवन, प्रवीण, सुनील, भोपसिंग, रवि बंजारे, भूपेन्द्र सलाम, मनोज चन्द्रा, महिला आर. शिखा साहू, रानू साहू शामिल थे।

--------

नगर विकास को लेकर सांसद से चर्चा

बालोद (नईदुनिया न्यूज)। कांकेर लोकसभा सांसद मोहन मंडावी से शनिवार को डौंडीलोहारा के उनके प्रतिनिधियों ने मुलाकात कर आवश्यक मुद्दों पर चर्चा की। नगर पंचायत प्रतिनिधि संदीप जैन ने बताया कि सांसद से नगर विकास को लेकर कई मुद्दों पर चर्चा की गई, साथ ही नगर पंचायत परिषद की बैठक में रखे गए प्रस्तावों से उन्हें अवगत कराया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रतिनिधि इकबाल अरोरा ने सांसद मोहन मंडावी को जीवनदीप समिति की पिछले कई महीनों से नहीं हुई बैठक के बारे में बताया तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सालों से व्याप्त समस्याओं के बारे में अवगत कराया। सांसद मोहन मंडावी ने बताया कि लॉकडाउन के चलते वे छत्तीसगढ़ में आने वाले प्रवासी मजदूरों की लगातार मदद कर रहे हैं। क्षेत्रिय स्तर पर उनके प्रतिनिधि उनका सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने सभी से शारीरिक दूरी का पालन करते हुए लॉकडाउन व शासन प्रशासन के निर्देशों का पूर्णतः पालन करने की अपील की।

सांसद मोहन मंडावी ने लोहारा स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी जब से इकबाल अरोरा को सौंपी है तब से इकबाल अरोरा लगातार डौंडीलोहारा की चिकित्सीय व्यवस्था को व्यवस्थित करने के लिए चिकित्सकों से संपर्क साध रहे हैं। वहीं अब उनके द्वारा इस बात की पहल की जा रही है कि जीवनदीप समिति के माध्यम से मरीजों को मिलने वाली सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए ताकि आदिवासी बाहुल्य तथा अंदरूनी क्षेत्र से आने वाले आदिवासियों को शहरी स्तर की चिकित्सीय सुविधा मिल सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना