दल्लीराजहरा । कोरोना वायरस के संक्रमण ने पूरे देश को झकझोर दिया है। इससे व्यवसायिक, सामाजिक आर्थिक रूप से व्यापक असर पड़ा है। प्रतिवर्ष वर्षों से होते आ रहे आयोजन को इस बार बंद किया गया है। रामनवमी, रथयात्रा के बाद अब कांवर यात्रा भी नहीं निकालने का निर्णय संघ के सदस्यों ने लिया है। बोलबम कांवरिया संघ के कमलेश राठौर ने बताया कि इस साल सामूहिक रूप से कांवर यात्रा नहीं निकाली जाएगी, क्योंकि इससे संक्रमण का खतरा बना हुआ है। यदि शिवभक्त चाहें तो वे अकेले कांवर यात्रा निकाल सकते हैं। मालूम हो कि दल्लीराजहरा शहर सहित अंचल में प्रतिवर्ष सावन मास में कांवर यात्रा निकालने की परंपरा का निर्वहन सालों से किए जा रहे हैं। इसके तहत शिवभक्त मुख्य चौक-चौराहों पर एकत्रित होते हैं और यहां से एक साथ समूह में चलते हुए गंगरेल, तांदुला, बोइरडीह डेम पहुंचते हैं। यहां से जल लेकर अंचल के महादेव मंदिर में जल अर्पित करने के बाद श्रद्घालु सीधे बोलबम का जयघोष करते हुए शहर पहुंचते थे। सावन मास के दौरान शहर, अंचल में भक्ति में माहौल रहता है। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण इस साल शहर में कांवर यात्रा देखने को नहीं मिलेगा। इससे शिव भक्तों में निराशा है। मालूम हो कि इस साल सावन छह जुलाई सोमवार से प्रारंभ होने जा रहा है। सावन मास में भक्त बेलपत्र, धतूरा, जल, दूध से शिवलिंग का अभिषेक कर शिव की आराधना करते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags