दीपक मित्तल दल्लीराजहरा

दल्लीराजहरा (नईदुनिया न्यूज)। अंतागढ़ में नया रेलवे स्टेशन बनकर तैयार है और यहां से रेल सेवा शुरू होने का इंतजार प्रबंधन को है। इधर भू-प्रभावित किसान परिवार खुद के साथ हुई वादाखिलाफी को लेकर विरोध की बात कह रहे हैं। दल्लीराजहरा-रावघाट-जगदलपुर रेललाइन परियोजना के प्रथम चरण में रायपुर रेलमंडल ने दल्लीराजहरा-रावघाट 95 किलोमीटर लंबी नई रेललाइन का लक्ष्य रखा है। जिसके तहत दल्लीराजहरा से अंतागढ़ तक लगभग 59 किलोमीटर नई रेललाइन बिछाने का काम पूरा हो चुका है।

दल्लीराजहरा से केंवटी तक लगभग 42 किलोमीटर लंबे रेल पथ पर यात्रियों को रेल सुविधा दी जा रही है। इधर अंतागढ़ में बनकर तैयार स्टेशन से रेल संचालन का स्थानीय लोग विरोध करने की तैयारी कर रहे हैं। भू-प्रभावित किसानों का कहना है कि 2008 में जमीन का अधिग्रहण किया गया था। किसानों को अधिसूचना भी मिल चुकी थी, जिसके बाद परिवार के एक सदस्य को नौकरी दिए जाने के वादे के फलस्वरूप बिलासपुर जाकर फार्म भी जमा करने की प्रक्रिया प्रभावित परिवार के सदस्यों ने पूरी की है।

प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का था वादा

प्रत्येक किसान के परिवार से एक को सरकारी नौकरी दिए जाने की बात कही गई थी और उचित मुआवजे का वादा था। एक लाख रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा थमा दिया गया और नौकरी भी नहीं मिली। स्थानीय जनप्रतिनिधि से मिलकर विरोध दर्ज करवाया जा चुका है। जब भी आंदोलन की बात होती है तो प्रबंधन एक-दो प्रभावितों को नौकरी देने का वादा करके पूरे मामले को टालमटोल करने की कोशिश करता है। 2008 से जारी संघर्ष को अब प्रभावित परिवार के लोग अंतिम रूप देने के मूड में आ चुके हैं।

जानिए परियोजना के बारे में

दल्ली राजहरा-रावघाट-जगदलपुर रेललाइन परियोजना कुल 235 किलोमीटर लंबी है। रेलपथ बिछाने का काम रेलवे, छत्तीसगढ़ शासन, स्टील एथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड, एनएमडीसी के संयुक्त प्रयास से चल रहा है। जिसके प्रथम चरण का काम पूरा होने को है। रेललाइन का विस्तार केंवटी से अंतागढ़ तक लगभग 17 किलोमीटर तक और कर दिया गया है। इस रेलवे ट्रैक पर पहली बार इंजन रोलिंग की जांच सफलतापूर्वक 30 जुलाई को की गई। 4 अगस्त को अंतागढ़ रेलवे स्टेशन को अल्फा न्यूमेरिकल कोड भी मिल गया। अंतागढ़ रेलवे स्टेशन का कोड एएजीएच तय किया गया है। जल्द ही रायपुर को रेलमार्ग के जरिए अंतागढ़ से जोड़ने और यात्री रेल परिवहन सुविधा के साथ ही माल परिवहन की सहूलियत भी मिल जाए, इसकी तैयारी की जा रही है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे का रायपुर मंडल यहां अपनी सेवाएं देगा। लोग इस बात को लेकर सहमत हैं कि केंवटी से अंतागढ़ के बीच रेललाइन शुरू हो जाने से इलाके का सर्वांगीण विकास तेजी के साथ होगा और उन्हें दैनिक जरूरत की पूर्ति में असानी होगी, लेकिन खुद के साथ हुए छल को भी वे भुला नहीं पा रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020