बालोद (नईदुनिया न्यूज)। जिले सहित पूरे छत्तीसगढ़ के प्रसिद्घ धार्मिक स्थल गंगा मैया मंदिर झलमला में इस बार भक्तों द्वारा 935 ज्योत जलवाए गए हैं। लेकिन उनके दर्शन की इजाजत उन्हें नहीं दी गई है। शासन-प्रशासन के निर्देशों का पालन करते हुए ज्योत जले हैं पर दर्शन के लिए मंदिर को बंद रखा गया है। सिर्फ मंदिर समिति से जुड़े हुए कुछ लोग ही वहां पर हैं। जो ज्योत की देखरेख कर रहे हैं। पुजारी पूजा कर रहें हैं और अन्य अनुष्ठान जो नवरात्रि के दौरान होते हैं वे समिति के लोग ही कर रहे हैं। पहली बार लोगों को पूरे नौ दिन 24 घंटे मंदिर के दर्शन के लिए आनलाइन व्यवस्था की गई है।

मंदिर में चार जगह पर कैमरे लगाए गए हैं। मुख्य कक्ष, हवन कक्ष व अन्य जगह पर लगे कैमरे के जरिए आनलाइन देखा जा सकता है। मंदिर के ट्रस्टी सोहन लाल टावरी ने बताया कि इस बार कोई आयोजन नहीं होगा। भंडारा व विसर्जन रैली तक नहीं निकली जाएगी। हम नौ दिनों तक आराधना करेंगे फिर ज्योत को स्वयं से शांत होने के लिए छोड़ देंगे। यही विसर्जन का तरीका होगा। लोगों को दर्शन करने की सीधी अनुमति नहीं है। इसलिए आनलाइन की सुविधा दी गई है। 24 घंटे तक ऑनलाइन दर्शन चालू रहेगा।

कमरौद में सिर्फ एक ज्योत

दक्षिणमुखी भूमिफोड़ हनुमान मंदिर ग्राम कमरौद गुंडरदेही जिला बालोद में शारदीय नवरात्रि पर्व पर मनोकामना ज्योति कलश के लिए 122 ज्योति कलश का पंजीयन हुआ। जिसमें 91 तेल व 31 घी है। सचिव केश कुमार ठाकुर ने बताया मंदिर समिति व श्रदालु आपस में चर्चा कर निर्णय लिया कि कोरोना व शासन की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए सभी के नाम से सिर्फ एक ही ज्योत जलाने का फैसला लिया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020